About Me

header ads

कोरोना सतर्कता: सीमा पर स्क्रीनिंग, भारत-बांग्लादेश सीमा पर निगरानी कड़ी


कोरोना के प्रवेश को रोकने के लिए भारत-बांग्लादेश सीमा पर स्क्रीनिग शिविर लगाया है. राज्य सरकार के निर्देशानुसार राजगंज ब्लॉक स्वास्थ विभाग की ओर से कोरोना स्क्रीनिंग शिविर लगाया है. बांग्लादेश से आने-जाने वाले पर्यटक व यात्रियों की जांच शुरु की गई है. वहीं दूसरी तरफ बांग्लादेश सरकार की ओर से भी उसपार सीमा पर कोरोना स्क्रीनिंग शिविर लगाया गया है.

सिलीगुड़ी पूवरेत्तर का प्रवेश द्वार माना जाता है. बांग्लादेश, भूटान, नेपाल की सीमा सटी हुई है. बल्कि कुछ दूरी पर चीन की अंतराष्ट्रीय सीमा भी है. सिलीगुड़ी से होकर रोजाना हजारों की तादात में विदेशी पर्यटकों का आना-जाना होता है. इसी को ध्यान में रखते हुए कोरोना वायरस को रोकने के लिए भारत-बांग्लादेश सीमांत फूलबाड़ी में स्क्रीनिंग शिविर लगाया है। यह शिविर रोजाना सुबह आठ बजे से शाम के छह बजे तक शिविर लगाया जाएगा.

बांग्लादेश से आने-जाने वाले सभी यात्रियों व पर्यटकों की कोरोना स्क्रीनिंग किया जाएगा. संदिग्ध पाए जाने वालों को उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज व अस्पताल भेजा जाएगा. कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए उत्तर बंगाल मेडिकल कॉलेज में अलग से आइसोलेसन वार्ड बनाया गया है. वहीं दूसरी तरफ उसपार की सीमा बांग्लाबांधा पर भी बांग्लादेश सरकार की ओर से कोरोना स्क्रीनिंग शिविर लगाया गया है.

भारत में कोरोना संक्रमित की संख्या 40 के आंकड़े तक पहुंच चुकी है. वहीं बांग्लादेश में भी तीन लोग कोरोना संक्रमण के शिकार पाए गए हैं. अभी हाल में ही असम से होकर एक अमेरिकी नागरिक भूटान में प्रवेश किया है। उसके शरीर में कोरोना वायरस पाया गया है. वह फिलहाल भूटान में इलाजरत है. 127 लोगों का उसके साथ स्पर्श हुआ है. जिसकी वजह से आतंक काफी बढ़ गया है. केंद्र व राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिला प्रशासन ने सतर्कता बरतने का निर्णय लिया है. इसके तहत सीमांत इलाकों पर विशेष निगरानी रखी जा रही है. आने-जाने वाले हर विदेशी नागरिकों की स्क्रीनिंग के लिए सीमा पर शिविर लगाया गया है.