राहुल के बयान पर तेजस्वी की नसीहत, लाठी-डंडे की बजाय कलम की बात करें


राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी यादव ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के डंडा वाले बयान पर कहा है कि हमें चुनाव परिणामों तक इंतजार करना चाहिए. राहुल गांधी ने पिछले दिनों कहा था, 'ये जो नरेंद्र मोदी भाषण दे रहा है, 6 महीने बाद ये घर से बाहर नहीं निकल पाएगा. हिंदुस्तान के युवा इसको ऐसा डंडा मारेंगे, इसको समझा देंगे कि हिंदुस्तान के युवा को रोजगार दिए बिना ये देश आगे नहीं बढ़ सकता.'

बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने राहुल गांधी के बयान पर कहा कि सभी जानते हैं कि झारखंड में किसे 'डंडे' का सामना करना पड़ा. लोगों को हरियाणा में भी कांग्रेस के अच्छे नतीजों की उम्मीद नहीं थी. साथ ही तेजस्वी ने कहा कि हमें डंडा और लाठी जैसे बयान देने से बचना चाहिए. इसके बजाय 'कलम' की बात करनी चाहिए.

राहुल गांधी ने बुधवार को दिल्ली में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा, 'ये जो नरेंद्र मोदी भाषण दे रहा है, 6 महीने बाद ये घर से बाहर नहीं निकल पाएगा. हिंदुस्तान के युवा इसको ऐसा डंडा मारेंगे, इसको समझा देंगे कि हिंदुस्तान के युवा को रोजगार दिए बिना ये देश आगे नहीं बढ़ सकता.'

कांग्रेस सांसद ने आगे कहा कि सब लोग चाहते हैं कि चीन को कोई न कोई बैलेंस करे. व्यापारियों ने अपना पैसा चीन में डाला और वहां वायरस हो गया. चीन की सब फैक्ट्रियां बंद पड़ी हैं. पूरी दुनिया कह रही है कि हम अपना पैसा हिंदुस्तान में इन्वेस्ट करना चाहते हैं, लेकिन देश में बढ़ती हिंसा और नफरत के कारण इन्वेस्टर पीछे हट जा रहे हैं.

लोकसभा में हंगामा

हालांकि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के इस बयान पर बजट सत्र के दौरान लोकसभा में जमकर हंगामा हुआ. इसके बाद बीजेपी-कांग्रेस के नेता आमने-सामने आ गए और सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी गई.

एक तरफ संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर की हरकत को 'गुंडागर्दी' की पराकाष्ठा करार दिया. वहीं, दूसरी तरफ कांग्रेस सांसद मणिकम टैगोर ने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला से लिखित शिकायत की है. उन्होंने कहा कि भाजपा सांसद बृजभूषण शरण ने उन्हें आज सदन में जान से मारने की धमकी दी.

राहुल के डंडे वाले बयान पर असम के कोकराझार में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कभी-कभी लोग मोदी को डंडा मारने की बाते कहते हैं, लेकिन जिस मोदी को इतनी बड़ी मात्रा में माताओं-बहनों का सुरक्षा कवच मिला हो उस पर कितने ही डंडे गिर जाएं उसको कुछ नहीं होता.