राज्यसभा कार्यवाही से हटाया गया पीएम मोदी के भाषण का एक शब्द


राज्यसभा में दिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण से एक शब्द को रिकॉर्ड से हटा दिया गया है. दरअसल, गुरुवार को राज्‍यसभा में राष्‍ट्रपति के अभिभाषण के धन्यवाद प्रस्ताव पर पीएम मोदी ने कई मुद्दों को लेकर विपक्ष को घेरा. इस दौरान प्रधानमंत्री ने एक ऐसा शब्द कहा जिसे सदन की कार्यवाही से हटा दिया गया है.

बजट सत्र की शुरुआत में संसद के दोनों सदनों की बैठक में राष्ट्रपति ने अभिभाषण दिया था. जिस पर धन्यवाद प्रस्ताव के दौरान राज्यसभा में पीएम मोदी ने एक शब्द इस्तेमाल किया था. जिसे राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू ने हटवा दिया है.

राज्यसभा सचिवालय की ओर जारी बयान में कहा गया, 'सभापति ने 6 फरवरी को शाम 6.20 से 6.30 बजे तक राज्यसभा की कार्यवाही के एक निश्चित हिस्से को हटवा दिया है.' इसके अलावा नायडू ने विपक्ष के नेता और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद के एक बयान से भी एक शब्द को हटवा दिया. पीएम मोदी के भाषण के तुरंद बाद गुलाम नबी आजाद ने अपना भाषण शुरू किया था.

NPR पर पीएम ने विपक्ष को घेरा

राज्यसभा में अपने भाषण के दौरान पीएम मोदी ने एनपीआर के मुद्दे पर विपक्ष को घेरा. राज्यसभा में पीएम मोदी ने कहा, 'जनगणना और एनपीआर सामान्य प्रशासनिक काम है. 2010 में NPR का संचालन करते समय आपको कोई समस्या नहीं हुई? ये शासन के मामले हैं. गलत जानकारी न फैलाएं.' साथ ही पीएम मोदी ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद पहली बार हुए कामों के बारे में भी बताया.