पोर्टर का सिर काटकर ले गई पाकिस्तान की BAT, सेना प्रमुख बोले- जवाब देंगे


पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) शुक्रवार को पुंछ जिले से सटी नियंत्रण रेखा (LoC) पर दो पोर्टरों की हत्या कर दी थी और एक पोर्टर का सिर काटकर ले गई थी. इस पर सेनाध्यक्ष जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है.

पाकिस्तानी बॉर्डर एक्शन टीम की शर्मनाक करतूत की आलोचना करते हुए भारतीय सेना के प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने कहा कि प्रोफेशनल आर्मी कभी भी बर्बर कृत्यों का सहारा नहीं लेती है. ऐसे हालात में सैन्य तौर-तरीके से निपटा जाएगा.

पाकिस्तानी सेना की कायराना हरकत को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में जनरल नरवणे ने कहा कि भारतीय सेना एलओसी पर भी पेशेवर तरीके और नैतिकता के साथ काम करती है. पेशेवर सेनाएं कभी भी बर्बरता में शामिल नहीं होती हैं. यह पहली बार था, जब पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम किसी नागरिक की हत्या करके उसका सिर काटकर ले गई है.

इस बॉर्डर एक्शन टीम में पाकिस्तानी सेना और आतंकी शामिल थे. इससे पहले पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम ने भारतीय सेना के जवानों के सिर काटने की बर्बर घटना को अंजाम दिया था. एक सीनियर पुलिस अधिकारी ने बताया कि 28 वर्षीय मोहम्मद असलम का शव बुरी तरह से क्षत विक्षत मिला और उसका सिर गायब था. उसके सिर को BAT काटकर ले गई थी.

जब शनिवार को आर्मी चीफ जनरल नरवणे से इस पर सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा कि प्रोफेशनल सेनाएं बर्बरता का सहारा कभी नहीं लेती हैं. इस मामले में सैन्य अंदाज में निपटा जाएगा.

सेना के लिए रसद ले जा रहे पोर्टरों को PAK सेना ने बनाया निशाना

इससे पहले एक डिफेंस प्रवक्ता ने कहा कि मोहम्मद असलम और 23 वर्षीय अलतफ हुसैन गुलपुर सेक्टर के कसालियन गांव के रहने वाले थे. इनकी पाकिस्तानी सेना ने हत्या कर दी. पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना के पोर्टरों पर मोर्टर भी दागे, जिसमें तीन आर्मी पोर्टर घायल हो गए. शुक्रवार को पाकिस्तानी सेना ने इन पोर्टरों को उस समय निशाना बनाया, जब ये एलओसी से सटे इलाके में भारतीय सेना के लिए रसद लेकर जा रहे थे.

पाकिस्तानी सेना के मोर्टार हमले में  3 आर्मी पोर्टर हुए घायल

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मोहम्मद असलम के बिना सिर के शव को पुलिस को सौंप दिया गया. इसके बाद पुलिस ने कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद सेना के पोर्टरों के शवों को उनके परिजनों को सौंप दिया. उन्होंनें बताया कि पाकिस्तान सेना के मोर्टार हमले में तीन आर्मी पोर्टर घायल हुए हैं, जिनकी पहचान 24 वर्षीय मोहम्मद सलीम, 28 वर्षीय मोहम्मद शौकत और 35 वर्षीय नवाज अहमद के रूप में हुई है.

कांग्रेस ने सरकार से पूछा- पाकिस्तान को जब दिया जाएगा जवाब

वहीं, कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आर्मी पोर्टरों की हत्या की कड़ी निंदा की है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की चुप्पी पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने मोदी सरकार से सवाल किया कि पाकिस्तान की इस कायराना हरकत का जवाब कर दिया जाएगा?