About Me

header ads

रोजगार पर एक और झटका, खतरे में OYO के सैकड़ों कर्मचारियों की नौकरी


होटल इंडस्‍ट्री की चर्चित कंपनी ओयो (Oyo) के कर्मचारियों की नौकरी खतरे में है. ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी अगले तीन से चार महीनों में भारत में 1,200 अन्य कर्मचारियों की छंटनी करने वाली है. भारत के अलावा चीन में भी कंपनी कर्मचारियों की संख्‍या कम करेगी. यहां बता दें कि स्‍टार्टअप कंपनी ओयो भारत और चीन में बजट होटल सर्विस मुहैया कराती है.

कितने कर्मचारियों पर संकट?

रिपोर्ट के मुताबिक ओयो चीन में कार्यरत 12 हजार कर्मचारियों में से 5 फीसदी को बाहर का रास्ता दिखा चुकी है. वहीं भारत में कार्यरत 10 हजार कर्मचारियों में से 12 फीसदी की छंटनी की जा चुकी है. जिन विभागों में छंटनी हुई है उनमें सेल्स, सप्लाई और ऑपरेशन शामिल हैं. इसके अलावा आने वाले तीन से चार महीने में 1200 अन्‍य कर्मचारियों की भी छंटनी होगी.

क्‍या कहा कंपनी ने?

रितेश अग्रवाल द्वारा स्थापित फर्म ओयो ने एक बयान में कहा, "हम काम करने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक हैं. इसकी एक अहम वजह लगातार कर्मचारियों के प्रदर्शन का मूल्यांकन, ईनाम और पहचान करने की हमारी क्षमता रही है." बहरहाल, ओयो के भीतर का यह संकट मासायोशी सोन की सॉफ्टबैंक के लिए चिंता बढ़ाने वाला है.

इस कंपनी को सॉफ्टबैंक ने विजन फंड के जरिए 1.5 बिलियन डॉलर इन्वेस्ट किए हैं. कंपनी की वैल्‍यू फिलहाल 10 बिलियन डॉलर है. वहीं ओयो रूम्स के पास एक लाख से अधिक कमरे हैं.  बता दें कि 'ओरावल' नाम से शुरू हुई वेबसाइट का नाम साल 2013 में ओयो रूम्‍स दिया गया. इसकी शुरुआत रितेश अग्रवाल ने की थी. बेहद कम समय में इस स्‍टार्टअप को पहचान और सॉफ्टबैंक का समर्थन भी मिल गया.