दिल्ली के एक स्कूल में मिड-डे मील में मिला मरा हुआ चूहा


पहाड़गंज के देश राज भाटिया मार्ग पर स्थित एसडी हरी मंदिर बालिका उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में मीड-डे मील के कंटेनर में मरा हुआ चूहा मिला. हालांकि, किसी भी छात्र को खाना परोसा नहीं गया था. स्कूल में मिड-डे मील की आपूर्ति सुमित नागपाल करते हैं.

विद्यालय की प्रधानाचार्य अनिता जैन ने बताया कि पिछले दो माह से मिड-डे मील का ठेका सुमित नागपाल को दिया गया था. लेकिन कई दिनों से मीड-डे मील में कुछ न कुछ गड़बड़ी मिल रही थी. कभी खाना अधपका होता था, तो कभी दाल बहुत पतली होती थी. इस संबंध में उन्होंने 3 दिसंबर को शिकायत भी की थी. इसी वजह से खाने को परोसने से पहले उसकी हर रोज अच्छे से जांच की जाती थी.

गुरुवार को छात्राओं को नमकीन दलिया और हलवा दिया जाना था, लेकिन जैसे ही दलिया का कंटेनर खोला तो उसमें मरा हुआ चूहा मिला. उन्होंने इसकी जानकारी मिड-डे मील ठेकेदार को दी इसके बाद शिक्षा निदेशालय के अधिकारियों को मामले से अवगत कराया.

मिड-डे मील की जगह छात्रओं को नमकीन, बिस्किट बांटा गया. साथ ही शिकायत में यह भी बताया गया कि शुक्रवार से सुमित नागपाल से मिड-डे मील का खाना नहीं लिया जाएगा. लिहाजा मजबूरन उन्हें स्कूल में मिड-डे मील को बंद करना पड़ेगा. वहीं, इस संबंध में जब शिक्षा निदेशक बिनय भूषण से बात करने की कोशिश की तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया.

मिड-डे-मील की आपूर्ति करने वाले ठेकेदार ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में क्वालिटी का ध्यान नहीं रखते हैं. इसका असर बच्चों के स्वास्थ्य पर पड़ता है.