प्रियंका के आरोपों पर BJP का पलटवार, सिद्धार्थनाथ सिंह बोले- नौटंकी कर रहीं


प्रियंका गांधी शनिवार को लखनऊ में रिटायर्ड आईपीएस एसआर दारापुरी के परिवार से मिलने जा रही थीं, जिन्हें फेसबुक पर नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ पोस्ट लिखने पर गिरफ्तार किया गया है. प्रियंका का आरोप है कि जब वो दारापुरी के परिवार से मिलने जा रही थीं तो पुलिस ने उन्हें रास्ते में रोका. जिसके बाद वो पैदल चलने लगीं तो एक महिला पुलिसकर्मी ने उन्हें धक्का देकर गिराया और गला दबाया.

प्रियंका गांधी के आरोपों के बाद कांग्रेस ने योगी सरकार पर ताबड़तोड़ हमला करना शुरू कर दिया. कांग्रेस प्रवक्ता सुष्मिता देव ने कहा कि प्रियंका के साथ बदसलूकी हुई है, ये शर्मनाक है और इस घटना की जांच होनी चाहिए.

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा, 'नौटंकी'

कांग्रेस भले ही हमलावर है, मगर योगी सरकार में मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने प्रियंका के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है और प्रियंका के आरोपों को नौटंकी कह रहे हैं. उन्होंने कहा कि प्रियंका झूठ बोल रही हैं. प्रियंका गांधी के बयान पर टिप्पणी करते हुए बीजेपी नेता सिद्धार्थ नाथ सिंह ने ट्वीट किया है कि प्रियंका गांधी झूठ बोल रही हैं, उनका पूरा परिवार झूठ पर ही पनपता है, थूको और भागो की नीति से अस्थायी शोहरत तो मिल सकती है, मगर वोट नहीं. प्रियंका की नौटंकी की निंदा होनी चाहिए.

श्रीकांत शर्मा ने लगाए कांग्रेस पर गंभीर आरोप

योगी सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भी इस मामले पर अपनी राय रखी है. श्रीकांत शर्मा ने ट्वीट किया है, "शांत प्रदेश कांग्रेस को पच नहीं रहा है. शुक्रवार शान्ति से गुजरा तो अगले ही दिन पुलिस को घेरने और उपद्रवियों का हौसला बढ़ाने के लिए कांग्रेस नेता यूपी में सक्रिय हो गए. प्रदेश को फिर से जलाने का षड्यंत्र सफल नहीं होगा.

घटना का वीडियो भी आया सामने

इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है. जिसमें एक महिला पुलिस अधिकारी प्रियंका गांधी को रोकते हुए दिखाई देती है. लेकिन प्रियंका उन्हें हटाकर आगे बढ़ जाती हैं. लेकिन प्रिंयका ने इस पूरे घटनाक्रम का जो ब्यौरा पेश किया है. वैसा कम से कम इस वीडियो में दिखाई नहीं देता है. लेकिन कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी साफ-साफ दावा कर रही हैं कि लखनऊ में महिला पुलिसकर्मी ने उन्हें गले से पकड़ा और हाथापाई की.

जो वीडियो सामने आया है उसमें एक पुलिस अधिकारी उन्हें रोकने की कोशिश तो करती है. इस दौरान प्रियंका गांधी अपने गले में पड़ी शॉल को खींचकर आगे बढ़ जाती हैं. जिसे पहले प्रियंका गांधी और फिर कांग्रेस पार्टी. प्रियंका गांधी के साथ धक्का-मुक्की, खींचतान, हाथापाई और गला दबाने की कोशिश करार दे रही है.