About Me

header ads

बर्लिन की दीवार से राष्ट्र निर्माण तक, अयोध्या पर फैसले के बाद PM मोदी के 4 बड़े संदेश


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अयोध्या मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला नया सवेरा लेकर आया है. उन्होंने कहा कि इस विवाद का भले ही कई पीढ़ियों पर असर पड़ा हो लेकिन इस फैसले के बाद हमें ये संकल्प करना होगा कि अब नई पीढ़ी, नए सिरे से न्यू इंडिया के निर्माण में जुटेगी.

बर्लिन की दीवार

मोदी ने कहा कि आज 9 नवंबर है. यह वही तारीख है, जब बर्लिन की दीवार गिराई गई थी. दो विपरीत धाराओं ने एकजुट होकर नया संकल्प लिया था और आज ही करतारपुर कॉरिडोर की शुरुआत हुई. इसमें भारत और पाकिस्तान दोनों का योगदान रहा है. यह तारीख हमें साथ रहकर आगे बढ़ने का संदेश दे रही है.

नया इतिहास

प्रधानमंत्री मोदी ने राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा, "आज सवा सौ करोड़ देशवासी नया इतिहास रच रहे हैं, इतिहास के अंदर स्वर्णिम पृष्ठ जोड़ रहे हैं. अयोध्या मामले पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने सबको सुना. देश के लिए खुशी की बात है कि फैसला सर्वसम्मति से आया. परिवार में छोटा मसला सुलझाना हो तो दिक्कत आती है."

जीवंत लोकतंत्र

उन्होंने कहा कि दशकों तक चली न्याय प्रकिया का अब समापन हुआ है. पूरी दुनिया ने आज जाना कि भारत का लोकतंत्र कितना जीवंत और मजबूत है. मोदी ने कहा, "पूरे देश की यह इच्छा थी कि इस मामले में अदालत में हर रोज सुनवाई हो और आज फैसला आ चुका है. दशकों तक चली न्याय प्रक्रिया और उस प्रक्रिया का समापन हुआ है. पूरी दुनिया मानती है कि भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. फैसला आने के बाद जिस तरह से हर वर्ग के लोगों ने खुले दिल से इसे स्वीकार किया है, भारत की परंपरा को दिखाता है."

पीएम मोदी ने कहा, "भारत विविधता में एकता के लिए जाना जाता है, आज यह मंत्र पूर्णता के साथ खिला हुआ नजर आता है. विविधता में एकता किसी को समझनी होगी तो वह आज के दिन का जरूर उल्लेख करेगा."

कटुता के लिए कोई स्थान नहीं

उन्होंने कहा, "हर पक्ष को अपनी-अपनी दलील रखने के लिए पर्याप्त समय और अवसर दिया गया. सुप्रीम कोर्ट का यह फैसला कई वजहों से महत्वपूर्ण है. इससे पता चला है कि किसी मसले को सुलझाने में कानूनी प्रक्रिया का पालन कितना अहम है."

पीएम मोदी ने कहा कि आज की तारीख ये भी संदेश देती है कटुता का कोई स्थान नहीं है. हर स्थिति में धैर्य बनाए रखना जरूरी है. कोर्ट का ये फैसला हमारे लिए नया सवेरा लेकर आया है. इस विवाद पर कई पीढ़ियों पर असर पड़ा है. लेकिन हमें ये संकल्प लेना होगा कि हम नए भारत का निर्माण करें. हमें सबको साथ लेकर, सबका विश्वास हासिल करते हुए आगे बढ़ना है. राम मंदिर के निर्माण का फैसला सुप्रीम कोर्ट ने दे दिया है. अब देश के हर नागरिक पर राष्ट्र निर्माण की जिम्मेदारी और बढ़ गई है.