About Me

header ads

'दुश्मन' को एहसान से मारने के लिए इमरान खान पर लट्टू हुए सिद्धू


करतारपुर कॉरिडोर पहुंचे कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को करतारपुर कॉरिडोर के लिए धन्यवाद दिया और मंच से जमकर उनकी तारीफ की. उन्होंने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर खोलकर उन्होंने करोड़ों सिखों की दुआएं हासिल कर लीं. आपको बता दें कि सिद्धू 'करतारपुर इवेंट' के लिए पाकिस्तान की ओर से 'मुख्य अतिथि' के तौर पर निमंत्रित किए गए थे. यहां आपको यह भी बता दें कि सिद्धू ने भारतीय जत्थे के साथ अपनी यात्रा भी नहीं की थी.

सिद्धू ने कार्यक्रम के मंच से कहा, "मैं 14 करोड़ सिखों की तरफ से बोलता हूं, सुनो मैं क्या कहता हूं. तेरी मोहब्बत, तेरी मुरव्वत, तेरे प्यार के तोहफे के बदले मैं मेरे कौल दी सबसे महंगी चीज शुकराना लेकर आया हूं . मैं कहया यारा सोडियां खाना... दिल दियां शहंशाह खान इमराना... तेरी खातिर दिल नजराना लेकर आया हां."

इमरान की तारीफ में सिद्धू ने सुनाई कविता

इसके बाद सिद्धू ने अपने चिरपरिचित अंदाज में कुछ लाइनें भी कहीं जिसे सुन इमरान खान वहां बैठे-बैठे ताली बजाते रहे और मुस्कुराते रहे . सिद्धू ने कहा, "है समय नदी की बाढ़ सी अक्सर सब बह जाया करते हैं... है समय बड़ा तूफान प्रबल परबत भी झुक जाया करते हैं... अक्सर दुनिया के लोग समय में चक्कर खाया करते हैं... पर कुछ इमरान खान जैसे होते हैं जो इतिहास बनाया करते हैं."

...जब सिद्धू ने पार की सारी हदें

इसके बाद सिद्धू ने सारी हदें पार करते हुए कहा, "क्या मिलेगा मार कर किसी को जान से... मारना हो तो मार डालो एहसान से... दुश्मन मर नहीं सकता कभी नुकसान से... और सर उठाकर चल नहीं सकता मरा हुआ एहसान से." हालांकि सिद्धू ने कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं किया कि इमरान खान का दुश्मन कौन है. गौरतलब है कि पाकिस्तान की भारत से दुश्मनी जगजाहिर है और इमरान खान भी आए दिन भारत और पीएम मोदी के खिलाफ जहर उगलते रहते हैं.