About Me

header ads

JK गए 138 मजदूर कोलकाता लौटे, 5 साथियों की हत्या के बाद खौफ में थी जिंदगी


केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में खौफ की जिंदगी जी रहे 138 मजदूरों को पश्चिम बंगाल सरकार ने वापस बुला लिया है. ये मजदूर सोमवार को एक ट्रेन से श्रीनगर से कोलकाता वापस लौटे. कश्मीर के कुलगाम में आतंकवादियों ने 5 मजदूरों की गोली मारकर हत्या कर दी थी. ये पांचों मजदूर पश्चिम बंगाल के रहने वाले थे और कंस्ट्रक्शन साइट पर काम करने के लिए पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद से जम्मू-कश्मीर के कुलगाम आए थे. इन पांच मजदूरों की हत्या के बाद पश्चिम बंगाल से जम्मू-कश्मीर आए मजदूर बेहद खौफ में थे और इन्हें अपनी जान का डर सता रहा था.

133 मजदूर बंगाल के, 5 असम के रहने वाले

आतंकियों की इस कायराना हरकत के बाद ही पश्चिम बंगाल की सरकार ने ऐलान किया था कि वो जम्मू-कश्मीर में मजदूरी कर रहे सभी मजदूरों को वहां से वापस ले आएगी. ये सभी मजदूर जम्मू-तवी एक्सप्रेस से सोमवार रात को कोलकाता पहुंचें. 138 में से 133 मजदूर पश्चिम बंगाल के रहने वाले हैं जबकि 5 मजदूर असम के हैं. जम्मू-कश्मीर से लौटने के बाद इनके चेहरे पर खुशी साफ झलक रही थी.

सरकार करेगी रोजगार की व्यवस्था

पत्रकारों से बात करते हुए पश्चिम बंगाल के शहरी विकास मंत्री फिरहाद हाकिम ने कहा कि सभी मजदूरों को उनके घर भेजा जाएगा. उन्होंने कहा, "हम उन्हें वापस ले आए हैं, हमनें उनके लिए बसों की व्यवस्था की, जो उन्हें उनके घरों तक ले जाएगी." फिरहाद हाकिम ने कहा कि इन मजदूरों के परिवार वाले काफी चिंतित थे, उन्होंने यह भी कहा कि सरकार इन्हें रोजगार मुहैया कराएगी.

बता दें कि आतंकवादियों ने बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के बहलनगर गांव के पांच लोगों कमरूद्दीन शेख, मुरसलीम शेख, रफीकुल शेख, रफीक शेख और नईमुद्दीन शेख की घाटी के कुलगाम जिले में गोली मारकर हत्या कर दी थी. मुख्यमंत्री ममत बनर्जी ने पांच मजदूरों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये मुआवजा देने का ऐलान किया था.