About Me

header ads

US ने चेताया- कश्मीर विवाद के बाद भारत में हमला कर सकते हैं PAK आतंकी


जम्मू-कश्मीर के मसले पर भारत की ओर से दुनिया को एकजुट किया जा चुका है और पाकिस्तान की आवाज़ कहीं दब गई है. पाकिस्तान लगातार अपने बद इरादे दुनिया के सामने जाहिर कर चुका है और अब अमेरिका ने भी चेताया है कि पाकिस्तान में बैठे आतंकी संगठन जम्मू-कश्मीर में हमला कर सकते हैं. अमेरिका का कहना है कि कश्मीर मसले पर पाकिस्तान की ओर से भारत में आतंकी हमले कराए जा सकते हैं.

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के इंडो-पैसेफिक क्षेत्र के असिस्टेंट सेक्रेटरी रैंडल शिल्वर ने वॉशिंगटन में मंगलवार को इस बात को दोहराया. उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा, ‘..कई लोगों के मन में चिंता है कि जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान क्रॉस बॉर्डर आतंकवाद में बढ़ावा कर सकता है. मुझे नहीं लगता है कि चीन की ओर से इस बात पर भी पाकिस्तान का समर्थन किया जाएगा.’

वॉशिंगटन में एक कार्यक्रम के दौरान जब रैंडल से जम्मू-कश्मीर के मसले पर सवाल किया गया और इस मसले पर चीन के द्वारा पाकिस्तान का समर्थन करने की बात कही गई तो उन्होंने इस मसले पर जवाब दिया. उन्होंने कहा कि चीन का पाकिस्तान को समर्थन सिर्फ डिप्लोमेटिक और राजनीतिक है.

अमेरिकी डिप्लोमेट ने कहा कि चीन ने पाकिस्तान का अंतरराष्ट्रीय मंच पर समर्थन किया है. कश्मीर का मसला संयुक्त राष्ट्र में उठाया जाए या नहीं इसपर विचार किया जा रहा है. चीन के साथ पाकिस्तान के बढ़िया संबंध हैं, उनका भारत के साथ भी मुकाबला बढ़ रहा है.

रैंडल शिल्वर ने कहा कि भारत-चीन के संबंधों पर उन्होंने भारत के विदेश मंत्री एस. जयंशकर से बात की है, वह चीन के साथ अच्छे संबंध चाहते हैं. लेकिन इस बात को नकारा नहीं जा सकता है कि कश्मीर मसले समेत कई बड़े मुद्दों में चीन ने पाकिस्तान का साथ दिया है.

कश्मीर पर क्या है पाकिस्तान का रुख?

आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर में जबसे भारत ने अनुच्छेद 370 को हटाया है तभी से पाकिस्तान इस पर हल्ला मचाए हुए है. इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र में भी इसपर लंबा-चौड़ा भाषण दिया और एक तरह से युद्ध की धमकी दे डाली. इमरान खान खुद एक और पुलवामा हमले की बात कर चुके हैं. जबकि भारत की ओर से युद्ध नहीं बुद्ध का संदेश दिया गया.