About Me

header ads

कश्मीर मुद्दे पर इमरान खान का ट्रंप को कॉल, फोन पर 20 मिनट चली बातचीत


जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान तिलमिला गया है. अंतरराष्ट्रीय मंच पर उसे इस मुद्दे पर निराशा ही हाथ लग रही है. कोई रास्ता न देखते हुए पाकिस्तान अब अमेरिका के आगे गिड़गिड़ा रहा है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ टेलीफोन पर 20 मिनट लंबी बातचीत की. ट्रंप  कश्मीर मुद्दे पर चर्चा के लिए पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने राष्ट्रपति ट्रंप को कॉल किया.

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी का कहना है, 'इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति को 'विश्वास' में लिया है. पीएम कई देशों के संपर्क में हैं और कश्मीर मुद्दे पर वैश्विक समर्थन जुटाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं'. इससे पहले कश्मीर मुद्दे पर अंतरराष्ट्रीय समुदाय का समर्थन पाने में नाकाम हो रहे इमरान खान ने स्रेब्रेनिका नरसंहार का जिक्र करते हुए दुनिया को डराने की कोशिश की.

इमरान खान ने 15 अगस्त को अपने ट्वीट में पूछा कि क्या दुनिया चुपचाप स्रेब्रेनिका की तरह नरसंहार देखेगी जहां मुसलमानों का सफाया किया जाएगा. मैं अंतरराष्ट्रीय समुदाय को चेतावनी देता हूं कि अगर ऐसा हुआ तो मुस्लिम देशों में इसके गंभीर परिणाम देखने को मिलेंगे. इमरान खान ने यह यह आरोप भी लगाया कि भारत की केंद्र सरकार जम्मू और कश्मीर में नरसंहार कराने की तैयारी में है.

इसके अलावा इमरान खान ने 15 अगस्त यानी भारत के स्वतंत्रता दिवस को 'काला दिवस' के रूप में मनाया. इमरान खान ने सोशल नेटवर्किंग साइट टि्वटर से अपनी तस्वीर हटाकर एक काली तस्वीर लगा दी थी. बता दें 14 अगस्त को इमरान खान ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में अपने देश का स्वतंत्रता दिवस मनाया और इस मौके पर मुजफ्फराबाद में विधानसभा को संबोधित किया. यहां पर भी इमरान खान ने कश्मीर का रोना रोया.