सीएम नीतीश ने पटना में किया महाराणा प्रताप की प्रतिमा का अनावरण, वीरता, त्याग और बलिदान का किया स्मरण

 पटना. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को महाराणा प्रताप की मूर्ति का अनावरण किया. उन्होंने महाराणा प्रताप की वीरता, त्याग और बलिदान को गुणानुवाद किया. सीएम नीतीश ने कहा कि पटना में प्रतिमा स्थापना से सबको एक नई प्रेरणा का संचार होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि महाराणा प्रताप साहब की प्रतिमा आज यहां स्थापित की गई है। आज के ही दिन उनकी मृत्यु हुई थी। महाराणा प्रताप के जन्मदिन के अवसर पर राजकीय समारोह आयोजित किया जाता है। 9 मई को जन्मदिन के अवसर पर महाराणा प्रताप राजकीय समारोह हर वर्ष आयोजित किया जायेगा। महाराणा प्रताप की पुण्यतिथि के अवसर पर भी राज्य भर में समारोह आयोजित किये जाते हैं। देश में उनका बहुत बड़ा योगदान रहा है। हमलोग चाहते हैं कि नई पीढ़ी के लोगों को भी महाराणा प्रताप के बारे में सबकुछ मालूम हो



उन्होंने लोगों के हित में काम किया था। जब महाराणा प्रताप का शासन था और एक महिला को गिरफ्तार किया गया था तो उन्होंने कहा था कि महिला को क्यों गिरफ्तार किया गया है, उसे छोड़ दो, यह बहुत बड़ी चीज है। हमलोग हमेशा से कहते रहे हैं कि महिलाओं के हित में काम होना चाहिए। अपने समय में महाराणा प्रताप ने जो काम किये वह सब नई पीढ़ी को मालूम होना चाहिए। बड़े-बड़े कार्यक्रम उनकी याद में आयोजित किये जाते हैं। काफी समय से हमलोगों के मन में था कि महाराणा प्रताप की प्रतिमा यहां पर स्थापित करें। आज वो काम हो गया है। यहां पर जिस तरफ से भी लोग आयेंगे इनकी प्रतिमा को देखेंगे। इसी कारण हमलोगों ने इस जगह का चुनाव किया है। नई पीढ़ी से लेकर पुरानी पीढ़ी के लोग भी इनसे प्रेरणा लेंगे।

सीएम नीतीश के साथ बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, मंत्रिमंडल सदस्य विजय कुमार चौधरी, अशोक चौधरी, लेसी सिंह, संजय झा सहित अन्य नेता उपस्थित रहे. इस अवसर पर इस अवसर पर एमएलसी संजय सिंह, विधान पार्षद संजय कुमार सिंह उर्फ गांधी जी, जदयू के वरिष्ठ नेता और  राज्य नागरिक परिषद के पूर्व महासचिव अरविन्द कुमार सिंह उर्फ़ छोटू सिंह सहित अशोक सिंह, ओम प्रकाश सेतु, मनजीत सिंह, महेसर सिंह आदि उपस्थित रहे.