श्रद्धा मर्डर केस की चार्जशीट से खुलासा 'हत्या वाले दिन अपने किसी दोस्त से मिलने गई थी और फिर

 

Shraddha Murder Case: श्रद्धा मर्डर केस में नया खुलासा हुआ है. दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को यह खुलासा किया है




Shraddha Murder Case: दिल्ली पुलिस ने श्रद्धा मर्डर केस को लेकर मंगलवार (24 जनवरी) को नया खुलासा किया है. साकेत कोर्ट में 6 हजार से ज्यादा पन्नों की चार्जशीट दायर करने के बाद पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके खुलासा किया है







दिल्ली पुलिस की ज्वाइंट सीपी मीनू चौधरी ने बताया कि जिस दिन श्रद्धा की हत्या हुई वो अपने किसी दोस्त से मिलने गयी थी. आरोपी आफताब पूनावाला नहीं चाहता था कि श्रद्धा किसी से भी दोस्ती करें.  इस कारण श्रद्धा को आफताब ने जान से मार दिया. उन्होंने कहा कि केस में पहले आईपीसी की धारा 365 में मुकदमा दर्ज किया गया था, लेकिन बाद में इसमें धारा 302 भी जोड़ दी गयी थी. 

चार्जशीट में क्या है? 

मीनू चौधरी ने बताया कि दिल्ली छतरपुर में श्रद्धा के शव के कुछ टुकड़े मिले हैं. जांच में साइंटफिक मेथड का इस्तेमाल किया गया. डिजिटल सबूत के तौर पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, GPS लोकेशन को भी ट्रैक किया गया. 6000 पन्नों की चार्जशीट दाखिल कर दी गई है. आफताब को 12 नवंबर को पुलिस ने गिरफ्तार किया था

उन्होंने बताया कि श्रद्धा की हत्या में एक हथियार का इस्तेमाल नही हुआ. कई अलग अलग तरह के हथियारों का इस्तेमाल हुआ. हमने कुछ हथियार बरामद किए हैं. चार्जशीट में 150 से ज्यादा लोगो के बयान दर्ज किए गए हैं.  

कोर्ट में आफताब ने क्या मांग की?
श्रद्धा हत्याकांड में आफताब पूनावाला के खिलाफ मंगलवार को साकेत कोर्ट में पुलिस ने 6,629 पन्नों का चार्जशीट दायर की. कोर्ट ने आफताब की न्यायिक हिरासत की  दो हफ्ते के लिए बढ़ाकर सात फरवरी तक कर दी. आफताब ने कोर्ट में इस दौरान कहा कि वह अपने वकील एम एस खान को बदलना चाहता है इसलिए उन्हें चार्जशीट कॉपी ना दी जाए. उसने मजिस्ट्रेट से चार्जशीट की कॉपी मांगी तो इस पर मजिस्ट्रेट ने कहा कि वो 7 फरवरी को इस पर संज्ञान लेंगे.