बिहटा बालू माफिया गोलीकांड के बाद प्रशासन की कार्रवाई, दो दर्जन पोकलेन मशीन को किया गया क्षतिग्रस्त

 बिहटा के अमनाबाद में अवैध बालू खनन के लिए वर्चस्व को लेकर बीते दिनों दो पक्षों के बीच गोलीबारी हुई थी। इस दौरान 5 लोगों की हत्या की बात भी सामने आई थी। इस घटना के बाद इलाके में लगातार छापेमारी की जा रही है। इस दौरान प्रशासन ने दो दर्जन पोकलेन मशीन को जब्त किया जिसे अब क्षतिग्रस्त किया जा रहा है


बता दें कि इस गोलीकांड में चिन्हित दोनों गुटों के सदस्यों के ठिकानों पर छापेमारी करने गयी पुलिस पर भी फायरिंग की गयी थी। वहीं

पटना में एनआईटी घाट पर गोली लगे दो शवों के मिलने के बाद प्रशासन के होश उड़ गए। दोनों शव बिहटा के अमनाबाद में हुए गोलीकांड में शामिल लोगों का हैं।

पटना एसएसपी ने दानापुर एएसपी और एसडीओ के साथ मिलकर एक विशेष टीम का गठन किया। रविवार को अमनाबाद में चारों ओर से नाकेबंदी करते हुए पूरे गांव को घेर लिया गया। सोन नदी के किनारे अवैध रूप से लगे लगभग दर्जनों पोकलेन मशीनों को प्रशासन ने क्षतिग्रस्त कर दिया। वहीं बिहटा के अमनाबाद में हुई घटना को पुलिस मुख्यालय खुद हैंडल कर रही है।

दरअसल अमनाबाद गांव मे अहले सुबह भारी संख्या में पुलिस बलों ने गांव को चारों ओर से घेर लिया और दियारा में लगे जितने भी पोकलेन मशीनें थी सभी को क्षतिग्रस्त कर दिया। पटना एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लों खुद इसकी मोनिटरिंग कर रहे है। पुलिस और प्रशासन की इस कार्रवाई से बालू माफियाओं में हड़कंप मचा हुआ है।