लालू की पार्टी के दूसरा विकेट गिरा,अनंत सिंह के बाद अब अनिल साहनी की विधायकी गई




 लालू यादव की पार्टी राजद भले ही नीतीश कुमार के साथ गठबंधन करके सत्ता में लौट चुकी है, लेकिन उसे झटके पर झटका ही लग रहा है। सत्ता में शामिल उसके दो मंत्री इस्तीफा दे चुके हैं। अनंत सिंह जैसे धाकड़ विधायक की कुर्सी जा चुकी है।


अब एलटीसी स्कैम में सजा पा चुके राजद विधायक अनिल कुमार साहनी की भी सदस्यता चली गई है।बिहार विधानसभा के सचिव पवन कुमार पांडे द्वारा जारी एक अधिसूचना के अनुसार साहनी को “दोषी ठहराए जाने और सजा की तारीख से” अयोग्य घोषित कर दिया गया है। कुरहानी विधानसभा सीट का प्रतिनिधित्व करने वाले साहनी को 29 अगस्त को सजा सुनाई गई थी और दो दिन बाद तीन साल जेल की सजा सुनाई गई। दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने उन्हें 2012 में यात्रा किए बिना जाली एयर इंडिया ई-टिकट का उपयोग करके यात्रा भत्ता प्राप्त करने का प्रयास करने का दोषी ठहराया था।



घोटाले के समय साहनी राज्यसभा सदस्य थे और वर्तमान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू के साथ थे। साहनी कुछ महीनों के भीतर विधानसभा से अयोग्य घोषित होने वाले दूसरे राजद विधायक बन गए हैं। जिसके बाद पार्टी की ताक अब विधानसभा में घटकर 78 रह गई है। जोकि भाजपा से सिर्फ एक अधिक है।

इससे पहले बिहार के बाहुबली विधायक और छोटे सरकार के नाम से मशहूर अनंत सिंह की सदस्यता भी चली गई थी। अनंत सिंह को उनके आवास से हथियार और विस्फोटक की बरामदगी से संबंधित एक मामले में दोषी ठहराया गया है। जिसके बाद उनकी सदस्यता चली गई। अभी अनंत सिंह की सीट पर उपचुनाव चल रहा है, जहां अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी चुनावी मैदान में है।