त्योहार के सीजन में चतुर्थी के मौके पर कोलकाता एयरपोर्ट पर रिकार्ड भीड़, यात्रियों की संख्या 48 हजार के पार

राजधानी कोलकाता एवं उत्तर बंगाल स्थित बागडोगरा एयरपोर्ट पर चतुर्थी के मौके पर रिकार्ड भीड़ देखी गई। वह भी ऐसी की शनिवार को यात्रियों की संख्या 48 हजार के पार हो गई। इनमें घरेलू यात्रियों के अलावा अंतरराष्ट्रीय यात्रा करने वाले यात्री भी शामिल है। त्योहार के सीजन में लगभग हर एयरपोर्ट पर कमोबेश यही आलम है। हाल ही में मुंबई एयरपोर्ट पर इतनी अधिक भीड़ हो गई थी कि कई यात्रियों की उड़ाने छूट गई थी तथा एयरपोर्ट पर खूब हंगामा हुआ था जहां कोरोना के प्रोटोकाल की धज्जियां तक उड़ गई थी। कोलकाता एयरपोर्ट पर ऐसी नौबत न आए, इसके लिए अधिकारियों ने अहम बैठक की। दुर्गापूजा में चतुर्थी व पंचमी को सबसे अधिक भीड़ देखी जाती है जब लोग अपने-अपने घरों की ओर लौटते हैं या फिर यहां से घूमने निकलते हैं।

एयरपोर्ट पर बरती जा रही है सतर्कता

ऐसे में कोलकाता एयरपोर्ट पर भीड़ को देखकर एयरपोर्ट प्रबंधन काफी खुश है। यह पहली बार है जब पोस्ट कोविड इतनी अधिक संख्या में यात्री यात्रा कर रहे हैं। इसके साथ ही एयरपोर्ट पर कोविड प्रोटोकाल को भी मेनटेन किया जा रहा है। एयरपोर्ट के बाहर यात्रियों को लंबी कतारों में देखा जा रहा है। यही कारण है कि एयरपोर्ट के सभी डोमेस्टिक गेटों को खोल दिया गया है। पहले जब जरूरत नहीं थी तब गेट नम्बर एक एबी व दो एबी को बंद कर के रखा जाता था लेकिन भीड़ के कारण इन्हें तीन एबी के साथ ही चालू रखा जा रहा है। ऐसा ही इंटरनेशनल टर्मिनल से जुड़े गेटों के साथ भी किया जा रहा है। एयरपोर्ट के भीतर यात्रियों की संख्या को देखते हुए एयरपोर्ट के टायलेटों में सफाई कर्मियों की संख्या भी बढ़ा दी गयी है ताकि हाइजीन मेनटेन हो पाए।इसके अलावा एयरपोर्ट के घरेलू टर्मिनल के अंदर इन लाइन बैगेज ​सिस्टम व सभी एक्स रे मशीनों को आपरेशनल किया गया है। वहीं सभी सिक्योरिटी गेट्स को चालू रखा गया है। इसके साथ ही मैन पावर भी बढ़ा दिये गये हैं ताकि यात्रियों को सहूलियत मिल सके। इस बारे एक अधिकारी ने बताया कि हम चाहते हैं कि कोलकाता एयरपोर्ट पर आने के बाद ही यात्रियों को दुर्गापूजा को लेकर उत्साह दिखे। इसके लिए एयरपोर्ट को सजाने का भी काम जारी है।