Aryan Khan Bail hearing: शाह रुख खान के बेटे आर्यन की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, एनसीबी ने कोर्ट से की हिरासत बढ़ाने की मांग

ड्रग्स केस में शाह रुख खान के बेटे आर्यन खान की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। बीते दिनों नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने आर्यन सहित 11 लोगों को ड्रग्स मामले में गिरफ्तार किया था। इनमें उनके दोस्त अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा का भी नाम शामिल है। इन सभी को मुंबई से गोवा जा रहे 'कॉर्डेलिया द इम्प्रेस' नाम के क्रूज शिप से गिरफ्तार किया।

आज (गुरूवार) क्रूज शिप मामले की कोर्ट में सुनाई हो रही है। ऐसे में एनसीबी ने कोर्ट से क्रूज शिप मामले में आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट, मुनमुन धमेचा और पांच अन्य को 11 अक्टूबर तक रिमांड पर लेने की मांग की। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के अनुसार ड्रग्स मामले में आर्यन खान और 7 अन्य की 11 अक्टूबर तक हिरासत की मांग करते हुए, एनसीबी ने मुंबई की एक अदालत को बताया कि वह अभी भी छापेमारी कर रही है और उन छापों में गिरफ्तार किए गए किसी भी व्यक्ति को वर्तमान आरोपी के साथ सामना करने की आवश्यकता होगी।

फिलहाल आर्यन पांच दिनों से नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की कस्टडी में हैं। पिछली सुनवाई 4 अक्टूबर को हुई थी, जिसमें आर्यन की एनसीबी कस्टडी 3 दिन बढ़ाकर 7 अक्टूबर तक कर दी गयी थी। एनसीबी इस मामले में अब तक 10 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। 2 अक्टूबर की रात एनसीबी की टीम ने एक टिप के आधार पर मुंबई से गोवा जा रहे एक लग्ज़री क्रूज़ पर छापा मारा था।

एनसीबी के मुताबिक, क्रूज़ पर चल रही रेव पार्टी में ड्रग्स और प्रतिबंधित दवाओं का सेवन किया जा रहा था। इस छापामारी में आठ लोगों को हिरासत में लिया गया था, जिनमें शाह रुख़ के बेटे आर्यन भी शामिल थे। कई घंटों की पूछताछ के बाद 3 अक्टूबर को एनसीबी ने आर्यन समेत सभी आठ लोगों मुनमुन धमेचा, अरबाज़ मर्चेंट, विक्रांत छोकर, नूपुर सारिका, इसमीत सिंह, मोहक जायसवाल और गोमित चोपड़ा को गिरफ़्तार कर लिया। सभी आरोपियों को एनडीपीएस एक्ट (NDPS Act) की धाराओं के तहत आगिरफ़्तार किया गया है। मेडिकल जांच के बाद उसी दिन उन्हें अदालत में पेश किया गया था, जहां से एक दिन की एनसीबी कस्टडी में भेज दिया गया।

एक दिन की अवधि समाप्त होने पर 4 अक्टूबर को एनसीबी ने सभी को अदालत में फिर पेश किया। आर्यन का केस जाने-माने वकील सतीश मानशिंदे लड़ रहे हैं। एनसीबी ने आगे की जांच के लिए कस्टडी बढ़ाने का अनुरोध किया। दोनों पक्षों को सुनने के बाद अदालत ने आर्यन, मुनमुन धमेचा और अरबाज़ मर्चेंट की हिरासत अवधि 3 दिन बढ़ाकर 7 अक्टूबर तक कर दी। इनके साथ बाकी पांच लोगों को भी 7 अक्टूबर तक कस्टडी में भेज दिया गया। रिपोर्ट्स के अनुसार, आर्यन के पास से कोई ड्रग्स बरामद नहीं हुआ। उनके मोबाइल फोन में कुछ संदिग्ध चैट्स मिली हैं, जिसके लिए आर्यन का मोबाइल फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है।