मुश्किल में चिराग के भाई प्रिंस राज, दुष्‍कर्म मामले में दिल्‍ली की अदालत में अग्रिम जमानत पर सुनवाई कल

लोक जनशक्ति पार्टी पारस गुट (LJP Paras Faction) के बिहार प्रदेश अध्यक्ष एवं समस्तीपुर के सांसद प्रिंस राज (Prince Raj) पर दिल्‍ली में दुष्कर्म (Dushkarm) के आरोप में मुकदमा दर्ज हुआ है। दिल्ली स्थित कनाट प्लेस थाने में एक युवती की शिकायत पर दर्ज इस मामले में प्रिंस ने गिरफ्तारी से बचने के लिए दिल्‍ली के राउज एवेन्‍यू कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका दाखिल की है। अब इस याचिका पर गुरुवार को सुनवाई होगी। प्रिंस  राज एलजेपी के चिराग गुट के अध्‍यक्ष चिराग पासवान (Chiraj Paswan) के रिश्‍ते में भाई हैं। राम विलास पासवान (Ramvilas Paswan) के निधन के बाद दो-फाड़ हुई एलजेपी (LJP Split) में प्रिंस चिराग के चाचा पशुपति पारस (Pashupati Paras) के गुट के साथ हैं।

क्‍या है पूरा मामला, जानिए

विदित हो कि साल 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान एलजेपी से जुड़ी एक युवती ने आरोप लगाया है कि मार्च 2020 में प्रिंस ने उसे दिल्‍ली के वेस्टर्न कोर्ट में बुलाकर नशीला पदार्थ पिला दिया, फिर दुष्कर्म किया। इसके बाद कई बार दुष्कर्म किया। उधर, प्रिंस राज ने युवती के खिलाफ पैसे मांगने के आरोप में पहले से मुकदमा दर्ज कराया है। प्रिंस राज के अनुसार युवती उन्‍हें एक करोड़ रुपये के लिए ब्लैकमेल कर रही थी।

प्रिंस की याचिका पर सुनवाई कल

जो भी हो, युवती के आरोप के आधार पर दर्ज एफआइआर के बाद अब प्रिंस राज की मुश्किलें बढ़ गईं हैं। उन्‍होंने दिल्‍ली के राउज एवेन्‍यू कोर्ट में अग्रिम जमानत की याचिका दाखिल कर दी है। इसपर गुरुवर को सुनवाई होगी। इस मामले में प्रिंस पासवान गिरफ्तार किए जाएंगे या नहीं, यह कोर्ट के फैसले पर निर्भर करेगा।

एलजेपी पारस गुट के प्रदेश अध्‍यक्ष हैं प्रिंस

प्रिंस राज एलजेपी के पशुपति पारस गुट के बिहार प्रदेश अध्‍यक्ष हैं। राम विलास पासवान के निधन के बाद जब एलजेपी दो-फाड़ हो गई, जब प्रिंस ने चिराग पासवान के बदले पशुपति पारस के साथ जाना पसंद किया।