मधुबनी रेलवे स्टेशन पर जांच में मिले आठ कोरोना पॉजिटिव, जिले में संक्रमितों की संख्या हुई 10

जिले में कोरोना संक्रमण एक बार फिर अपने पैर पसारने लगा है। हालांकि, अभ्ज्ञी खतरा बाहर से आने वाले लोगों से है। मधुबनी रेलवे स्टेशन पर जांच के क्रम में आठ रेल यात्री कोरोना पॉजिटिव पाए गए। आठ रेल यात्रियों के एक साथ कोरोना पॉजिटिव पाए जाने की सूचना मिलते ही स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया। इन आठ यात्रियों में से सात को होम आइसोलेशन में भेज दिया गया है, जबकि एक पॉजिटिव मरीज को रामपट्टी स्थित कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया है। सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा ने बताया कि जो आठ कोरोना पॉजिटिव मिले हैं, उनके घर के आसपास रहने वाले लोगों के टीकाकरण पर ध्यान दिया जाएगा। उन्होंने लोगों से शीघ्र ही टीका लेने का आह्वान करते हुए बताया कि कोरोना से बचाव के लिए टीकाकरण जरूरी है। टीका नहीं लेने वाले को निश्चित रूप से टीका ले लेना चाहिए। मास्क का प्रयोग करना चाहिए।

शारीरिक दूरी का ख्याल रखना चाहिए। बता दें कि इन आठ कोरोना पॉजिटिव मरीजों के साथ ही जिले में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 10 पर पहुंच गई है। रेलवे स्टेशन पर मिले आठ कोराना पॉजिटिव जिले के राजनगर, बाबूबरही, बेनीपट्टी, खुटौना, कलुआही एवं खजौली प्रखंड के निवासी बताए गए हैं। इनमें से तीन यात्री स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस, तीन यात्री शहीद एक्सप्रेस और दो यात्री पवन एक्सप्रेस से स्थानीय रेलवे स्टेशन पर उतरे थे। रेलवे स्टेशन पर महानगरों से आने वाले महज 150 से 200 यात्रियों की जांच में ही आठ यात्रियों को कोरोना पॉजिटिव होने से लोग सहम गए है। बता दें कि दिल्ली, मुंबई सहित देश के अन्य हिस्सों से मधुबनी रेलवे स्टेशन पर प्रतिदिन करीब दो हजार यात्री उतरते हैं। जिसमें से मुश्किल से डेढ़ सौ से दो सौ यात्रियों की जांच हो पाती है। शेष यात्री बगैर जांच के घर पहुंच रहे हैं।