75 करोड़ की लागत से होगा अलीपुर चिड़ियाघर का आधुनिकीकरण, जानवरों के लिए खोला जाएगा ब्रीडिंग सेंटर

एशिया के सबसे बड़े व सबसे पुराने चिड़ियाघरों में शुमार अलीपुर चिड़ियाघर का आधुनिकीकरण होने जा रहा है। इस बाबत चेकोस्लोवाकिया की एक संस्था के साथ 75 करोड़ रुपये का करार हुआ है। 138 साल पुराना यह चिड़ियाघर 40 एकड़ जमीन पर स्थित है। चिड़ियाघर सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आधुनिकीकरण के तहत यहां जानवरों के लिए ब्रीडिंग सेंटर खोला जाएगा। भीड़ नियंत्रित करने के लिए टोकन सिस्टम शुरू किया जाएगा। चिड़ियाघर परिसर में रेस्तरां भी खोले जाएंगे।

एक रेस्तरां उच्च आय वर्ग के लिए होगा जबकि दूसरा निम्न व मध्यम आय वर्ग के लिए। रेस्तरां खुलने के बाद यहां बाहर से खाने-पीने की चीजें लाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। सूत्रों ने आगे बताया कि लोहे की फेंसिंग को हटाकर स्टेनलेस स्टील की फेंसिंग लगाई जाएगी। ब्राजील से चार एनाकोंडा यहां लाए जाएंगे। एनाकोंडा के पिंजरे में शीशे के साथ-साथ जाल भी लगाया जाएगा।

राज्य के मुख्य सचिव हरिकृष्ण द्विवेदी ने आधुनिकीकरण को लेकर पिछले दिनों चिड़ियाघर के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक की थी। पता चला है कि चिड़ियाघर में नए पदों की भी सृष्टि की जाएगी, जिनमें रिसर्च असिस्टेंट का पद भी होगा।गौरतलब है कि अलीपुर चिड़ियाघर कोलकाता के सबसे दर्शनीय स्थलों में से एक है। ठंड के दिनों में यहां सबसे ज्यादा भीड़ होती है। 25 दिसंबर व एक जनवरी को यहां पैर रखने की भी जगह नहीं होती। कोलकाता समय बंगाल के विभिन्न इलाकों से लोग यहां घूमने आते हैं।