BigBasket के बाद अब 1MG भी होगी Tata Group की, जानिए इस डील से अहम बातें

Tata Sons की पूर्ण स्वामित्व वाली टाटा डिजिटल लिमिटेड (Tata Digital Ltd) ऑनलाइन हेल्थकेयर मार्केटप्लेस 1MG Technologies Ltd में बहुलांश हिस्सेदारी (मेजॉरिटी स्टेक) का अधिग्रहण करेगी। TDL ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी। हालांकि, कंपनी इस बात का विवरण नहीं दिया है कि यह डील कितनी राशि में हुई है। इससे कुछ दिन पहले कंपनी ने कहा था कि वह फिटनेस ब्रांड Curefit Healthcare में 75 मिलियन डॉलर (550 करोड़ रुपये के आसपास) का निवेश करेगी। हालांकि, कंपनी ने यह नहीं बताया था कि इस डील के जरिए वह कितनी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगी।

Tata Digital ने कहा है कि 1MG में इंवेस्टमेंट एक डिजिटल इकोसिस्टम के निर्माण के Tata Group के सपने के अनुरूप है।

Tata Digital इस डील को लेकर कहा है ई-फार्मेसी, ई-डायग्नोस्टिक्स और टेली-कंसलटेशन इस इकोसिस्टम के अहम सेग्मेंट में शामिल हैं। साथ ही इसमें बहुत तेज ग्रोथ हो रहा है।

Tata Digital के CEO प्रतीक पाल की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, ''1MG में निवेश से ई-फार्मेसी सेक्टर और ई-डायग्नोस्टिक के क्षेत्र में एक टेक्नोलॉजी पर आधारित प्लेटफॉर्म के जरिए बेहतरीन कस्टमर एक्सपीरिएंस और हाई क्वालिटी हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स और सर्विसेज उपलब्ध कराने में मदद मिलेगी।"

1MG के सह-संस्थापक और सीईओ प्रशांत टंडन ने कहा कि देश के हर हिस्से में हाई क्वालिटी हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स और सर्विसेज तक सबकी पहुंच सुनिश्चित करने की 1MG की यात्रा में Tata का निवेश एक उल्लेखनीय मील का पत्थर है।

1MG की शुरुआत 2015 में हुई थी। यह ई-हेल्थ सेक्टर की प्रमुख कंपनियों में शामिल है। यह कंपनी दवाइयों, हेल्थ और अन्य वेलनेस प्रोडक्ट्स, डायग्नोस्टिक सर्विसेज और ग्राहकों को टेली-कंसल्टेशन की सुविधा उपलब्ध कराती है।

इससे पहले सोमवार को Tata Digital ने इस बात का ऐलान किया था कि वह Curefit Healthcare में 550 करोड़ रुपये का निवेश करेगी।

एक ऑफिशियल बयान में कहा गया था कि Curefit के फाउंडर और चीफ एक्जीक्यूटिव मुकेश बंसल टाटा डिजिटल में एक एक्जीक्यूटिव की भूमिका के साथ जुड़ेंगे। साथ ही वह Curefit का नेतृत्व जारी रखेंगे।

भारत में नमक से लेकर सॉफ्टवेयर बनाने वाला टाटा समूह पिछले कुछ समय से ई-कॉमर्स इंडस्ट्री में लगातार अधिग्रहण कर रहा है। पिछले महीने कंपनी ने ऑनलाइन ग्रॉसरी सेलर BigBasket की बहुलांश हिस्सेदारी खरीदी।