Cyclone Yaas LIVE Update: भीषण रूप ले सकता है यास तूफान, कई राज्‍य होंगे प्रभावित; अमित शाह और जेपी नड्डा ने संभाली कमान

टाक्टे के बाद एक और चक्रवाती तूफान यास को लेकर उन इलाकों में तैयारियां तेज कर दी गई हैं जहां इसके आने की प्रबल संभावना है। इस क्रम में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ( National President JP Nadda) और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने प्रभावित होने वाले राज्यों में तैयारियों को लेकर समीक्षा बैठक करने का फैसला किया है।

जानें हर अपडेट:-

- भुवनेश्वर IMD के अधिकारी उमाशंकर दास (Umashankar Das) ने कहा, 'चक्रवात पारादीप व सागर द्वीप से 26 मई को गुजरेगा। हवा की गति 150-160 किमी प्रति घंटे रहेगी जिसकी तीव्रता जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, बालासोर व भद्रक में बढ़ सकती है और भूस्खलन की भी संभावना है।

- ओडिशा, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और अंडमान निकोबार द्वीप समूह में NDRF ने अपने 99 टीमों को तैनात कर दिया है। यह जानकारी NDRF के DG एस एन प्रधान ने दी।

इस क्रम में आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए ओडिशा, आंध्र प्रदेश, पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल के साथ बैठक करेंगे और चक्रवात यास को लेकर तैयारियों की समीक्षा करेंगे। इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर आने वाले चक्रवात के लिए की गई तैयारियों की समीक्षा की। भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ( National President JP Nadda) सोमवार को उन सभी राज्यों के सांसदों से बात करेंगे जहां चक्रवाती तूफान  यास (cyclone Yaas) के असर होने की संभावना है। यह बैठक आज शाम 5.30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित की जाएगी।

बता दें कि इस चक्रवात के जोखिम को देखते हुए सशस्त्र सेना पूरी तरह तैयार है। शनिवार सुबह बंगाल की खाड़ी ( Bay of Bengal) में बनने वाले कम दबाव के क्षेत्र में रविवार सुबह डिप्रेशन देखा गया आर सोमवार सुबह यह चक्रवात यास में बदल गया। यह जानकारी मौसम विभाग (India Meteorological Department, IMD) के डायरेक्टर जनरल डॉक्टर मृत्युंजय मोहपात्रा  (Dr Mrutyunjay Mohapatra) ने दी। IMD द्वारा जताए गए पूर्वानुमान के अनुसार इस चक्रवात में 155-165 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलेगी और इसकी स्पीड 185 किमी प्रति घंटे तक बढ़ सकती है।  मोहपात्रा ने बताया,' यह भीषण रूप ले सकता है। यह पश्चिम बंगाल से होकर  उत्तरी ओडिशा तट से  26 मई की शाम को टकराएगा।'