ममता ने सीतलकुची घटना की तुलना नंदीग्राम नरसंहार से की


कोलकाताः पश्चिम बंगाल में शनिवार को चौथे चरण के मतदान के दौरान सुरक्षाबलों द्वारा की गई कथित फायरिंग में मारे गए चार लोगों के परिजन से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की। मतदान वाले दिन पांच लोगों की हत्या हुई थी, जिनमें एक व्यक्ति को मतदान की लाइन में गोली मार दी गई थी। बाकी चार लोगों की मौत सुरक्षाबलों की कथित फायरिंग में हुई थी। 

सिलीगुड़ी में मीडिया के सामने ममता ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीड़ित परिवारों के सदस्यों से बात की और आर्थिक मदद का आश्वासन दिया। चुनाव आयोग ने अगले 72 घंटे तक कूचबिहार में किसी भी राजनीतिक पार्टी के नेताओं के प्रवेश पर रोक लगाई है। ममता ने कहा कि चुनाव आयोग का जो मॉडल कोड आफ कंडक्ट है, वह वास्तव में मोदी कोड ऑफ कंडक्ट बन गया है। जैसे ही 72 घंटे की समय सीमा खत्म होगी, वह पीड़ित परिवारों से मिलने के लिए जाएंगी।

ममता बनर्जी ने सीतलकुची की घटना की तुलना नंदीग्राम नरसंहार से की और इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह पर निशाना साधा। सीएम ने कहा कि नंदीग्राम की तरह ही सीतलकुची में भी नरसंहार हुआ है। सीआईएसएफ के जवानों ने कमर के नीचे पैर पर नहीं, बल्कि कमर के ऊपर छाती में गोली मारी हैं। पीएम और गृह मंत्री पूरी तरह से असक्षम हैं और इस घटना की सूचनाओं को छिपाने के लिए उन्हें जाने से रोका गया है। सीएम ने वीडियो फोन से पीड़त परिवारों के सदस्यों से बात की और आर्थिक मदद का आश्वासन दिया।

 सिलीगुड़ी में संवाददाताओं से ममता बनर्जी ने  कहा कि उन्होंने पीड़ित परिवारों के साथ बात की है। वह वहां जाना चाहती थीं। उनके सिर पर हाथ रखना चाहती थीं, लेकिन उन्हें जाने नहीं दिया गया। यदि मैं सामने जाकर माथा पर हाथ फिरा देती, गर्भवती मां को सांत्वना दे पाती तो क्या अन्याय था ? उन्होंने कहा कि पीएम और गृह मंत्री पूरी तरह से असक्षम हैं। बंगाल पर कब्जा करना चाहते हैं। 

ममता बनर्जी ने कहा कि गोली कांड के तथ्य छिपाने की कोशिश की जा रही है। अर्द्धसैनिक बल को क्लीन चिट दिया गया है। सीतलकुची में नरसंहार किया गया है। यदि कोई समस्या थी, तो समाधान की कोशिश क्यों नहीं की गई?  रबर बुलेट चलाने, आंसू गैस के गोले छोड़ने, वाटर कैनन के इस्तेमाल का प्रवाधान है। मैं बहुत ही दुखी हूं। चुनाव आयोग भी बीजेपी का प्रवक्ता हो गया है। सभी बाहरी हैं, जिन्होंने गोली चलाई। मैं तो शांतिपूर्ण चुनाव चाहती हूं। आप गोली-बम क्यों मारेंगे ?  

ममता बनर्जी ने फायरिंग में मारे गए युवकों के परिजन से बात करते हुए कहा कि सीआईएसएफ पर जाकर हत्या की मुकदमा आप करवाओ, चुनाव के बाद मैं उसे देखूंगी। उन्होंने कहा कि पुलिस स्टेशन में अगर केस दर्ज नहीं किया जाता है तो आप मुझे बताओ।  मैं उन पुलिस वालों को भी देखूंगी। ममता ने कहा कि सीतलकुची की घटना की जांच सीआईडी करेगी।