बिहार के सचिन कुमार ने यूपीएससी में टॉप कर देश में किया नाम, पैरामिलिट्री फोर्स में बनेंगे अधिकारी

सफलता सुख-सुविधाओं की मोहताज नहीं होती। ये बिहार के बेटे न साबित कर दिया है। वैशाली जिले के जंदाहा प्रखंड सस्तौल गांव निवासी सचिन कुमार ने यूपीएससी की सेंट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स-2019 परीक्षा में देशभर में पहले ही प्रयास में प्रथम स्थान प्राप्त किया है। सामान्य परिवार से आने वाले 22 साल के सचिन देश में सफल 264 छात्रों में पहले स्थान पर हैं। 

बीएचयू में एमए राजनीति विज्ञान के छात्र हैं सचिन

वर्तमान में सचिन बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में एमए राजनीति विज्ञान के छात्र सचिन की पारिवारिक पृष्ठभूमि सामान्य है। कोरोन काल में सचिन ने गांव में ही यूपीएससी की तैयारी की। पढ़ाई के दौरान उनकी राह में कई रोड़े आए, लेकिन अपनी लगन के बूते वैशाली के सस्तौल निवासी डॉ. राजेश्वर राय और चंदा देवी के पुत्र सचिन कुमार ने माता-पिता का नाम रोशन किया है। सचिन के पिता बीएन मंडल विवि मधेपुरा में लीगल इंचार्ज के पद पर कार्यरत हैं। शुरुआती दौर में उनके पिता विश्वविद्यालय में डेली वेजर क्लर्क के पद पर कार्य करते थे। सचिन ने बताया कि बचपन में उनके दादा भोला राय रिक्शा चलाकर परिवार का भरण पोषण करते थे।

पटना में भी पढ़े, 12वीं में किया था टॉप

सचिन ने बताया कि बीएचयू से ही उन्होंने बीए ऑनर्स (राजनीति विज्ञान) किया है। सचिन ने बताया कि उनकी प्रारंभिक शिक्षा गांव से ही शुरू हुई, जिसके बाद कुछ वर्ष तक पटना सेंट्रल स्कूल में भी अध्ययन किया। छठी क्लास में था, उसी दौरान सैनिक स्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण की, फिर नालंदा सैनिक स्कूल में नामांकन हुआ। वहां आठवीं कक्षा की परीक्षा में बिहार में टॉप करने के बाद राष्ट्रीय इंडियन मिलिट्री कॉलेज, देहरादून में अपना नामांकन कराया।  लगन और मेहनत के बल पर सचिन ने 12वीं की परीक्षा में भी टॉप किया था। सचिन के यूपीएससी की सेंट्रल आर्म्स पुलिस फोर्स-2019 परीक्षा में देशभर में पहले स्थान पर आने पर वैशाली को गर्व है।