जवानों के लिए बनाई गई अत्याधुनिक एवं सभी सुविधाओं से परिपूर्ण बैरक

 - सीआरपीएफ डीआईजी ने किया बैरको का उद्घाटन 

- सिविक एक्शन प्रोग्राम के तहत बांटे गए सामग्री

युवा शक्ति संवाददाता

---------------------

गया। केंद्रीय योजनाओं के तहत बनाई गई बैरको का सेवरा कैम्प में मंगलवार को पुलिस उपमहानिरीक्षक सीआरपीएफ संजय कुमार ने वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ उद्घाटन किया। इस मौके पर पटना रेंज सीआरपीएफ डीआईजी संजय कुमार, सीआरपीएफ कमांडेंट डॉ निशीत कुमार, कोबरा 205 कमांडेंट दिलीप कुमार 47 बटालियन कमांडेंट यादराम बुनकर सेवरा कैंप सिविक एक्शन प्रोग्राम का संयुक्त रूप से विधिवत दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। जवानों के लिए बनाई गई अत्याधुनिक एवं सभी सुविधाओं से परिपूर्ण बैरको का उद्घाटन किया ।यह निर्माण विशेष प्रकार के इंजीनियर के साथ निर्मित किया गया है।

जिस की डिजाइन विशेष इंजीनियरों द्वारा तैयार किया गया है। इस बैरको में रहकर जवानों को अपना परिवार से दूर रहने के बाद भी घर में रहने का एहसास होगा। यह बैरक के सभी सुविधाओं से परिपूर्ण है और इसमें गर्मी तथा सर्दी का एहसास नहीं होगा। यह बैरकों में विशेष योजना के अंतर्गत केंद्रीय सरकार द्वारा दिए गए धनराशि से मात्र 45 दिनों में बनाई गई है। इस बैरक का निर्माण करने में अति शीघ्रता दिखाई गई और मंगलवार को इसका लोकार्पण किया गया। ऐसे ही अन्य बैरकें छकरबंधा, लुटूआ, डुमरिया तथा सीआरपीएफ कैप में बनाई जाएगी।

यह बैरक देखने में अति सुंदर ,शोभनीय है और बाहर से यह किसी होटल जैसा आभास देती है।इन बैरकों में रहकर निश्चित रूप से जवानों को बहुत खुशी होगी और उनके ऊपर किसी प्रकार के वातावरण का नकारात्मक प्रभाव नहीं पड़ेगा।सेवरा कैंप के सी/जीडी संतोष कुमार ने बताया कि ऐसे अत्याआधुनिक तकनीकी व सभी सुविधाओं से युक्त बैरकों में रहने के बारे में कभी सोचा भी नहीं था।ऐसी सुविधा युक्त बैरकों तो हमें अपने घर में रहने की नसीब नहीं होती है और अब इसमें हमें रहकर काफी खुशी हो रही है साथ ही यहां सर्दी व गर्मी का एहसास भी नहीं हो रहा है।

इसके अतिरिक्त पुलिस उपमहानिरीक्षक सीआरपीएफ रेंज पटना संजय कुमार ने गरीब जनता जो कि छकरबंधा वन क्षेत्र के कई गांवों के लोगो को सिविक एक्शन प्रोग्राम 2020-21 के तहत जरूरत के समान कंबल, शाऊल, खाना बनाने वाले बर्तन, खेलने का सामग्री, रेडीयो आदि भी बाटे तथा उन्होंने कहा है कि सीआरपीएफ हमेशा उनके साथ है और उनकी जरूरतों में हमेशा मदद करती रहेगी।साथ ही सभी नक्सल कैडरों से भी आवाहन है कि वे लोग मुख्य धारा में शामिल हो और हिंसा का रास्ता छोड़कर मुख्य धारा में शामिल हो।बिहार सरकार के आत्मसमर्पण नीति के अंतर्गत आने वाली सभी सुविधाएं उन्हें तुरंत मुहैया कराई जायेगी साथ ही उनके परिवारों का ध्यान रखा जायेगा। इस मौके पर स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों के साथ-साथ काफी संख्या में स्थानीय ग्रामीणों ने उपरोक्त कार्यक्रम में भाग लिया तथा स्थानीय ग्रामीणों द्वारा सीआरपीएफ के इस जनहित कार्य के लिए सराहना किया।

इस मौके पर द्वितीय कमान अधिकारी मनीष महाले, डिप्टी कमांडेंट मोतीलाल, डिप्टी कमांडेंट अंबर घोष, डिप्टी कमांडेंट ओपी यादव, डिप्टी कमांडेंट दीपक पटवाल, सहायक कमांडेंट दिलीप कुमार, सहायक कमांडेंट अवधेश कुमार सहित कई अधिकारी व गणमान्य लोग मौजूद थे।

ADVERTISEMENT