Budget 2021 बाजार को आया रास, Sensex एक बार फिर 50,000 के पार, Nifty 14,700 के करीब, HDFC Bank में जबरदस्त उछाल

बजट 2021 (Union Budget 2021) का सभी लोग अपने-अपने हिसाब से विश्लेषण कर रहे हैं लेकिन इतना तो स्पष्ट हो गया है कि शेयर बाजारों को यह बजट काफी रास आया है। आत्मनिर्भर भारत के साथ-साथ इन्फ्रा और हेल्थ पर अधिक निवेश की घोषणा के बाद शेयर बाजारों में तेजी का सिलसिला बदस्तूर जारी है। यही वजह है कि Sensex ने मंगलवार को एक बार फिर 50,000 अंक के स्तर को छू लिया। सुबह 09:34 बजे BSE Sensex 1,403.45 अंक यानी 2.89 फीसद के उछाल के साथ 50,004.06 अंक के स्तर पर ट्रेंड कर रहा था। इसी तरह NSE का Nifty भी 411 अंक यानी 2.88 फीसद के भारी उछाल के साथ 14,692.80 अंक के स्तर पर ट्रेंड कर रहा था।

इससे पिछले सत्र में Sensex 48,600.61 अंक के स्तर पर बंद हुआ था। मंगलवार को Sensex 49,193.26 अंक के स्तर पर खुला। सुबह 09:34 बजे सेंसेक्स पर एचडीएफसी बैंक के शेयरों में सबसे ज्यादा 6.47 फीसद की बढ़त देखने को मिली। इसके अलावा लार्सन एंड टुब्रो, एसबीआई, बजाज फाइनेंस, एचडीएफसी, एक्सिस बैंक, कोटक बैंक, अल्ट्राटेक सीमेंट, आईटीसी, आईसीआईसीआई बैंक के शेयरों में भारी बढ़त देखने को मिल रही थी। इनके अतिरिक्त ओएनजीसी, बजाज फिनजर्व, इंडसइंड बैंक, एशियन पेंट, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति, टेक महिंद्रा, एनटीपीसी, टीसीएस, टाइटन, इन्फोसिस, बजाज ऑटो, पावरग्रिड, सन फार्मा, एचसीएल टेक, भारती एयरटेल, नेस्ले इंडिया, डॉक्टर रेड्डीज और रिलायंस के शेयर हरे निशान में ट्रेंड कर रहे थे।

सेंसेक्स पर केवल हिन्दुस्तान यूनिलीवर का शेयर लाल निशान के साथ नजर आ रहा था।

बजट में घोषित उपायों से उत्साहित शेयर बाजारों में कल भारी तेजी देखने को मिली। सेंसेक्स सोमवार को 2,314.84 अंक यानी 5 फीसद के उछाल के साथ 48,600.61 अंक के स्तर पर बंद हुआ था। निफ्टी भी सोमवार को 646.60 अंक यानी 4.74 फीसद की बढ़त के साथ 14,281.20 अंक के स्तर पर बंद हुआ था। 

एक्सचेंज के आंकड़ों के मुताबिक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों  (FPIs) ने सोमवार को शुद्ध आधार पर 1,494.23 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे।

अन्य एशियाई बाजारों में भी दोपहर के सत्र में अच्छी-खासी तेजी देखने को मिल रही थी।

विश्लेषकों और बाजार विश्लेषकों का मानना है कि यह ग्रोथ को बढ़ावा देने वाला बोल्ड बजट है। साथ ही इसमें कोविड टैक्स या इनकम टैक्स पर सरचार्ज जैसे प्रावधान नहीं किए गए हैं, जिसकी आशंका जतायी जा रही थी। इसलिए इसे काफी राहत भरा कदम करार दिया गया है।

ADVERTISEMENT