Kisan Tractor March: मुकरबा चौक पर किसान हुए उग्र, दिल्ली पुलिस के जवानों को हटना पड़ा पीछे


तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को रद कराने की मांग को लेकर दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर चल रहा किसानों का धरना प्रदर्शन मंगलवार को 62वें दिन में प्रवेश कर गया है। इस बीच दिल्ली के तीन रूटों पर मंगलवार को किसान संगठन ने ट्रैक्टर परेड भी निकालना शुरू कर दिया है। टीकरी बॉर्डर के बाद यूपी गेट से भी किसान दिल्ली में घुस गए हैं। दोनों जगहों पर किसानों ने बैरिकेड तोड़ा है। पूर्वी दिल्ली स्थित यूपी गेट पर बैरिकेड तोड़कर किसान दिल्ली में घुस गए हैं। यहां तक कि गाज़ीपुर डेयरी फार्म तक पहुंच गए हैं। 

वहीं, युवा परेड के नाम पर सड़कों पर हुड़दंग कर रहे हैं। यूपी गेट और टीकरी बॉर्डर पर किसानों ने बैरिकेड तोड़ दिए हैं।  वहीं, एनएच- 9 व एक्सप्रेस-वे पर पूरी तरह से किसानों का कब्ज़ा है। इस दौरान डीटीसी बस के भी तोड़े जाने की खबर आई है। 

 -टीकरी बॉर्डर पर रैली में ट्रैक्टर के साथ जेसीबी भी शामिल

-टीकरी बॉर्डर से निकली परेड में 35 लाख रुपये की कीमत का ट्रैक्टर भी शामिल है, जो लोगों को काफी लुभा रहा है।

-मंगलवार सुबह दिल्ली स्थित टीकरी बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों ने बैरिकेड तोड़ दिया।

वहीं, ट्रैक्टर परेड के मसले पर किसान संगठनों और दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के बीच कुल 37 प्वाइंट पर दिल्ली की सीमाओं में प्रवेश करने को लेकर करार हुआ है। करार में यह भी साफ साफ बता दिया गया है कि

तय NOC के मुताबिक अगर एक भी मुद्दे पर /पॉइंट पर अगर अवहेलना किया जाएगा तो तय NOC को रद माना जायेगा। हर सीमा से पांच- पांच हजार ट्रैक्टरों और पांच हजार लोगों को ही दिल्ली पुलिस द्वारा दिल्ली की सीमाओं में घुसने की अनुमति दी गई है।

दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ सूत्रों के मुताबिक, सिंघु बॉर्डर, टीकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर इन तीनों बॉर्डर से पांच हजार ट्रैक्टर और पांच हजार लोगों को प्रत्येक बॉर्डर से दिल्ली के अंदर प्रवेश करने की अनुमति प्रदान की गई है 

इस तरह तीनों बॉर्डर से कुल 15 ,000 ट्रैक्टर को दिल्ली प्रवेश करने की अनुमति प्रदान की गई है।

तय अनुमति पत्र/ NOC के मुताबिक. दोपहर 12 बजे से लेकर शाम पांच बजे तक के लिए ही टैक्टर परेड की अनुमति दी गई है। किसान नेताओं से यह भी कहा गया है कि वे ढाई हजार वालंटियर सभी रूटों लगाएं।

परेड के दौरान आंदोलनकारियों को एक लेन छोड़नी पड़ेगी, एम्बुलेंस या इमरजेंसी वाहन के लिए। कोई आपत्तिजनक पोस्टर या बैनर किसी भी वाहन में नहीं लगाना होगा। रैली में कोई ड्रग्स/ शराब का सेवन नहीं करेगा। कोई भी शख्स गाड़ी के साथ स्टंट नहीं करेगा। कोई भी विस्फोटक सहित हथियार अपने साथ लेकर परेड में नहीं आएगा।

ADVERTISEMENT