राज्य सरकार का यह प्रयास रहा है कि समाज के अंतिम पायदान पर जो व्यक्ति खड़े हैं उनको साथ लेकर चलना है:डीएम

 


-गणतंत्र दिवस के अवसर पर महादलित टोले में डीएम की उपस्थिति में सबसे बुजुर्ग व्यक्ति द्वार झंडा तोलन किया गया।

गया। 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर मंगलवार को कुजापी महादलित टोले में डीएम अभिषेक सिंह की उपस्थिति में कुजापी महादलित टोले के सबसे बुजुर्ग व्यक्ति जमुना मांझी द्वार झंडा तोलन किया गया।

झंडोत्तोलन के उपरांत डीएम ने उपस्थित जनप्रतिनिधि एवं महादलित टोले के व्यक्तियों को कहा कि राज्य सरकार का हमेशा से यह प्रयास रहा है कि समाज के अंतिम पायदान पर जो व्यक्ति खड़े हैं उनको साथ लेकर चलना है और उनका जब तक विकास नहीं होगा तब तक शत प्रतिशत विकास की बात करना सही तौर पर उचित नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी बिहार द्वारा पूर्व में दिशा निर्देश प्राप्त था कि 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर किसी भी राष्ट्र के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण दिवस होता है क्योंकि इसी दिन संविधान को अपनाया गया था। संविधान हमारे अधिकारों को रक्षा करने के लिए, हमारे विकास के लिए और हमारे देश की रक्षा के लिए बनाया गया है और उस संविधान में भागीदारी सबसे पहले समाज के अंतिम पायदान पर खड़े दलित, महादलित, अल्पसंख्यक एवं अन्य जो दिव्यांग जन का हैं, उनको साथ लेकर चलने की बात की गई है और राज्य सरकार एवं मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर का शुरुआत किया है और प्रत्येक 26 जनवरी को सभी जिला स्तरीय वरीय पदाधिकारी अलग-अलग चयनित महादलित टोले में जाते हैं। उन्होंने उपस्थित सभी को कहा कि नल जल योजना के माध्यम से जो पानी टंकी बना है, घर घर पानी का कनेक्शन दिया गया है वह भी सबसे पहले महादलित टोले को प्राथमिकता दिया गया है। नाली गली योजना का कार्य भी सबसे पहले महादलित टोले में ही प्रारंभ की गई। शिक्षा एवं स्वास्थ्य की सेवाएं भी सबसे पहले दलित महादलित टोला को दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार आज पूरे देश के सामने उदाहरण प्रस्तुत कर रहा है चाहे वह नल जल योजना के माध्यम से हो, चाहे बच्चों को पढ़ाई के लेकर हो, साइकिल योजना हो, कन्या उत्थान योजना हो या फिर हमारे दलित महादलित परिवार के लोगो को उद्यम बनाना हो। जो व्यक्ति  उद्यम कार्य करना चाहते हैं या अपने गांव में ही कार्य करना चाहते हैं तो उन्हें बिहार सरकार द्वारा ग्रामीण उद्यमी योजना के तहत 10 लाख रुपये का ऋण दिया जा रहा है, जिसमें 5 लाख रुपये ऋण होता है एवं 5 लाख रुपये अनुदान की राशि होती है। दलित, महादलित एवं अल्पसंख्यक समाज के छात्रों को प्राथमिकता देकर बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना एवं स्वयं सहायता योजना का लाभ दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आप सबों के लिए बिहार सरकार द्वारा कई प्रकार की योजनाएं चलाई जा रही हैं। आप सभी ग्रामीण सरकार की योजनाओं का भरपूर लाभ उठावे। उन्होंने कहा कि आज की तिथि में हर घर बिजली का कनेक्शन दिया गया है। घर घर नल का जल पहुंचाया गया है। घर घर तक नाली का निर्माण एवं पक्की गली का निर्माण कराया गया है। जो व्यक्ति योग्यता रखते हैं उन्हें राशन कार्ड दिया जा रहा है। जो व्यक्ति योग्यता रखते हैं उन्हें आवास योजना के अंतर्गत नाम जोड़ा जा रहा है। 


-डीएम ने उपस्थित होने वाले सभी बच्चों को कहां  की महान हस्तियां बनने की क्षमता है आप सभी में।

उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित होने वाले सभी बच्चों को कहां की सभी बच्चों में वरीय अधिकारी, जिला पदाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी, डॉक्टर एवं अन्य कई महान हस्तियां बनने की क्षमता है। केवल यह सुनिश्चित करना है कि जो स्कूल में पढ़ाई होती है उसे निरंतर बनाए रखें। उन्होंने उपस्थित बच्चों के अभिभावक से अनुरोध किया कि सभी अभिभावक के घर में वरीय अधिकारी, डीएम, एसपी, डॉक्टर है। आप अपने बच्चों को पढ़ाएं उसको आगे ले जाएं। आपके बच्चे जो भी बनना चाहे उसे मौका देकर उन्हें अवश्य बनाएं। उन्होंने कहा कि आज के दौर में हमारे पढ़ाई हमारे शिक्षा ही सबसे बड़ा ही पूंजी है। हमारे बीच से ही बहुत सारे लोग आगे निकले हैं। उन्होंने कहा कि प्राइवेट सेक्टर में भी कई व्यक्ति अच्छे विकास कर रहे हैं।

उन्होंने बच्चों के अभिभावक से अनुरोध किया कि विद्यालय से जो शिक्षा प्राप्त हो रहा है उसे अच्छी तरह से ग्रहण करें। उन्होंने सभी बच्चों को पौष्टिक भोजन देने का अनुरोध किया ताकि बच्चे स्वस्थ रहेंगे तो बेहतर करेंगे और अच्छे से पढ़ाई करेंगे। 

उन्होंने युवा वर्ग के व्यक्तियों से अनुरोध किया कि अपने जीवन का तीन से छह महीने, बिहार सरकार द्वारा चलाये जाने वाले कोर्स चाहे वह कौशल युवा कार्यक्रम हो, दीन दयाल उपाध्याय कौशल योजना हो, आईटीआई हो या पॉलिटेक्निक हो या कोई भी इस तरह का कोर्स हो उसे अनिवार्य रूप से करें। इस तरह के कोर्स करने के उपरांत आपके जीवन में रोजगार मिलने की कई संभावनाएं बढ़ जाती है। उन्होंने कहा कि आप अपना स्वयं स्वरोजगार प्रारंभ कर सकते हैं या कोई उद्योग लगा सकते हैं। उन्होंने कहा कि हर एक व्यक्ति जो 16 साल या 18 साल या 20 साल के हैं वह इस कोर्स को अनिवार्य रूप से प्राप्त कर लें। ताकि अपने आप को बेहतर कर सकें और क्षमता वर्धक बना सकें। 

उन्होंने उपस्थित जनप्रतिनिधि को कहा कि सरकार की जितनी योजना है, उसे पंचायत स्तर पर हर एक व्यक्तियों को उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा कि योजनाएं जनप्रतिनिधि के माध्यम से ही जनता को मिलने वाली है। इसलिए आपकी भूमिका महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि आज की तिथि में भारत सरकार के द्वारा या राज्य सरकार द्वारा सबसे ज्यादा फंड का वितरण पंचायत स्तर पर किया जा रहा है, ताकि पंचायत का बेहतर विकास हो सके तथा हर गांव का बेहतर विकास हो सके।

उन्होंने प्रखंड विकास पदाधिकारी, मुखिया, वार्ड सदस्य एवं सरपंच सभी लोग मिलकर इस गांव का और ज्यादा विकास करें और यह सुनिश्चित करें कि सरकारी की सभी योजनाओं का लाभ हर व्यक्ति तक पहुंचे।

उन्होंने अंत में कहा कि इस गौरवपूर्ण दिवस के लिए और इस आयोजन में आने के लिए सभी को जिला प्रशासन की ओर से सहृदय धन्यवाद दिया।और उन्होंने कहा कि आने वाले समय में कुजापी पंचायत विभिन्न कार्यक्रमों, विभिन्न क्रियाकलापों एवं विभिन्न योजनाओं में इस तरह कार्य करें कि पूरे जिले के लिए उदाहरण प्रस्तुत कर सके।

उन्होंने कहा कि प्रत्येक शुक्रवार को जिला पदाधिकारी अपने कार्यालय में आम जनों से मिलते हैं और अगर किसी भी व्यक्ति को कुछ व्यक्तिगत समस्याएं हैं तो जरूर से जरूर मिल कर बता सकते हैं।उन्होंने उपस्थित सभी जनप्रतिनिधि एवं ग्रामीणों को गणतंत्र दिवस के अवसर पर हार्दिक शुभकामनाएं दिया।

इस अवसर पर एसएसपी आदित्य कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी नगर बलबंत कुमार पांडेय, मुखिया, उप मुखिया, सरपंच एवं पंचायत के ग्रामीण उपस्थित थे।

ADVERTISEMENT