इस बार बजट सत्र के लिए सांसदों का होगा कोरोना टेस्ट, जानिए सत्र से जुड़े शेड्यूल

संसद का बजट सत्र 29 जनवरी से शुरू होगा और आम बजट 1 फरवरी को पेश होगा। यह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का तीसरा बजट होगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण इसे पेश करेंगी। राष्ट्रपति 29 जनवरी को सुबह 11 बजे संसद के दोनों सदनों को संबोधित करेंगे। इस बार बजट सत्र से पहले सभी सांसदों का आरटी-पीसीआर टेस्ट होगा। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने इसकी जानकारी दी। दरअसल, कोरोना के खतरे को देखते हुए आरटी-पीसीआर टेस्ट जरूरी है। 29 जनवरी को राज्य सभा की बैठक सुबह 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक और लोकसभा की बैठक शाम 4 बजे से रात 9 बजे तक होगी।  

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के मुताबिक, सत्र के दौरान शून्य काल और प्रश्न काल भी होंगे। मालूम हो कि लोकसभा अध्यक्ष ने जानकारी दी कि संसद कैंटीन में फूड सब्सिडी को खत्म कर दिया गया है। कोरोना महामारी और उसके बाद आर्थिक संकट के कारण यह बजट बहुत महत्वपूर्ण हो गया है। बजट के पहले चरण में संसद की कार्यवाही 29 जनवरी से 15 फरवरी तक चलेगी। दूसरे चरण में संसद की कार्यवाही आठ मार्च से आठ अप्रैल के बीच चलेगी। 17वीं लोकसभा के पांचवें सत्र में 35 बैठकें होंगी। 

यह बजट ऐसे समय में पेश किया जाएगा जब पूरी दुनिया में कोरोना महामारी की वजह से आर्थिक तौर पर कमजोर हो गई है। इस बार बजट की छपाई नहीं होगी। 1947 को पहली बार बजट के रूप में वित्तीय लेखाजोखा पेश किया गया था। तब से संसद में पेश होने वाले बजट की छपाई का चलन है। निर्मला सीतारमण इस बार पहली फरवरी को सॉफ्ट कॉपी से बजट पेश करेंगी। निर्मला सीतारमण इस बार पहली फरवरी को सॉफ्ट कॉपी से बजट पेश करेंगी। 

ADVERTISEMENT