Kashmiri Kesar: पीएम मोदी ने मन की बात में की कश्मीरी केसर की चर्चा, जानें- इसके औषधीय गुण


पीएम मोदी ने आज मन की बात को संबोधित करते हुए कश्मीरी केसर की का जिक्र किया। उन्होंने अबुल फजल का किस्सा याद कर कश्मीरी केसर की तारीफ की। पीएम ने कहा कि पीएम मोदी ने कहा कि अकबर के दरबार के एक प्रमुख सदस्य अबुल फजल थे। उन्होंने एक बार कश्मीर की यात्रा के बाद कहा था कि कश्मीर में एक ऐसा नजारा है, जिसे देखकर चिड़चिड़े और गुस्सैल लोग भी खुशी से झूम उठेंगे। केसर, सदियों से कश्मीर से जुड़ा हुआ है। कश्मीरी केसर मुख्य रूप से पुलवामा, बडगाम, और किश्तवाड़ जैसे जगहों पर उगाया जाता है। पीएम मोदी ने कहा कि इसी साल मई में कश्मीर केसर को जीआई टैग दिया गया। इसके जरिए, हम कश्मीर केसर को एक अंतरराष्ट्रीय ब्रांड बनाना चाहते हैं।

मन की बात कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कश्मीरी केसर वैश्विक स्तर पर एक ऐसे मसाले के रूप में प्रसिद्ध है, जिसके कई प्रकार के औषधीय गुण हैं। यह अत्यंत सुगन्धित होता है, इसका रंग गाढ़ा होता है और इसके धागे लंबे व मोटे होते हैं। जो इसकी औषधीय मूल्य को बढ़ाता है। यह जम्मू-कश्मीर की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत का प्रतिनिधित्व करता है। क्वालिटी की बात करें तो कश्मीर का केसर बहुत यूनिक है और दूसरे देशों के केसर से बिलकुल अगल है। कश्मीर के केसर को i tag से एक अलग पहचान मिली है।

पीएम मोदी ने कहा कि आपको जानकर खुशी होगी कि कश्मीर केसर को जीआई टैग का सर्टिफिकेट मिलने के बाद दुबई के एक सुपर मार्केट में इसे लांन्च किया गया। अब इसका निर्यात बढ़ने लगा है। यह आत्मनिर्भर भारत बनाने के हमारे प्रयासों को और मजबूती देगा। केसर के किसानों को इससे विशेष रुप से लाभ होगा।


ADVERTISEMENT