सितंबर तिमाही में SBI को उम्मीद से बेहतर मुनाफा, NPA भी हुआ कम

 

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई की दूसरी तिमाही (जुलाई से सितंबर) के नतीजे जारी हो गए हैं. इसमें एसबीआई को उम्मीद से कहीं ज्यादा मुनाफा हुआ है. ताजा आंकड़ों के मुताबिक बैंक को सितंबर तिमाही में 4574 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है. एक साल पहले के मुकाबले ये 1500 करोड़ रुपये से ज्यादा या करीब 52 फीसदी है.

बैंक ने बताया कि कुल इनकम में मामूली गिरावट आई है और यह 75,341.80 करोड़ रुपये है जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में बैंक का कुल इनकम 75,850.78 थी. दूसरी तिमाही में SBI की शुद्ध ब्याज आय (NII) 28,182 करोड़ रुपये रही है. एक साल पहले इसी तिमाही में शुद्ध ब्याज आय 24,600 करोड़ रुपये थी. यानी करीब 6 फीसदी की बढ़त है.

एनपीए भी हुआ कम 

एसबीआई ने कहा कि ग्रॉस नॉन परफॉर्मिंग एसेट यानी NPA भी कम हुआ है. बीते साल इसी तिमाही में ग्रॉस एनपीए 1.29 लाख करोड़ रुपये था, जो अब 1.25 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया है. नेट एनपीए की बात करें तो 36,451 करोड़ रुपये रहा जो एक साल पहले इसी तिमाही में 42,704 करोड़ रुपये था. एसबीआई ने कहा कि ग्रॉस NPA बढ़ सकता था, अगर बैंक 31 अगस्त 2020 के बाद लोन अकाउंट को NPA करता.

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 3 सितंबर को आदेश दिया था कि जो अकाउंट 31 अगस्त तक NPA घोषित नहीं किए गए हैं, उन्हें अगले आदेश तक NPA घोषित नहीं किया जा सकता है. यही वजह है कि एसबीआई ने कई लोन अकाउंट को अभी एनपीए नहीं घोषित किया है. 

जमा और लोन

जुलाई-सितंबर में एसबीआई में कुल जमा सालाना आधार पर 14.41 फीसदी बढ़कर 34.70 लाख करोड़ रुपये हो गया है. इसमें से बचत खाते की जमा में सालाना आधार पर 16.28 फीसदी का इजाफा हुआ. दूसरी तिमाही में होम लोन पिछले साल के मुकाबले 10.34 फीसदी बढ़े. वहीं, चालू खाते में जमा 8.55 फीसदी बढ़ा है.


ADVERTISEMENT