वैक्सीन के बाद ही निर्यात में उछाल की संभावना, यूरोप के कई देशों में आंशिक लॉकडाउन से निर्यातक चिंतित


यूरोप के कुछ देशों में आंशिक लॉकडाउन ने निर्यातकों को आशंकित कर दिया है। वैक्सीन की खबरों से माहौल में आशा तो जगी है लेकिन निर्यातकों का मानना है कि वैक्सीन आने के बाद ही इसका प्रभाव दिखेगा। अगले कुछ महीनों के आर्डर तो हैं लेकिन उसके बाद परेशानी हो सकती है।

अपैरल एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल (एईपीसी) के उत्तरी क्षेत्र के चेयरमैन ललित ठुकराल के मुताबिक वैक्सीन लगने की शुरुआत के बाद ही दुनिया के देशों से निर्यात आर्डर पर फर्क दिखेगा। उन्होंने बताया कि यूरोप के जर्मनी, स्पेन, इटली जैसे देशों के हालात को देखते हुए अगर उन देशों में आंशिक लॉकडाउन दिसंबर तक जारी रहता है तो क्रिसमस में होने वाली बिक्री प्रभावित हो जाएगी।

इस कारण उनके अगले आर्डर प्रभावित होंगे। फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट आर्गेनाइजेशंस (फियो) के रिजनल चेयरमैन (नार्दर्न) अश्विनी कुमार ने बताया कि उनके पास पहले से निर्यात के आर्डर हैं, लेकिन वैक्सीन आने की चर्चा से नए आर्डर में तेजी की कोई संभावना नहीं हैं।

उन्होंने कहा कि वैक्सीन आने से उम्मीद जरूर जगी है, लेकिन विश्व में सार्वजनिक रूप से वैक्सीन लगने की शुरुआत के बाद ही कारोबार में तेजी आएगी। गत सितंबर महीने में वस्तुओं के निर्यात में पिछले साल सितंबर के मुकाबले बढ़ोतरी के बाद गत अक्टूबर महीने में वस्तुओं के निर्यात में पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 5 फीसद से अधिक की गिरावट दर्ज की गई।

इस गिरावट के लिए निर्यातक मुख्य रूप से पंजाब में चल रहे आंदोलन के साथ कंटेनर की कमी को जिम्मेदार बता रहे हैं।


ADVERTISEMENT