West Bengal : तृणमूल कांग्रेस की महिला शाखा ने हाथरस कांड के खिलाफ निकाली रैली

तृणमूल कांग्रेस ने गुरुवार को भी उत्तर प्रदेश के हाथरस कांड के खिलाफ प्रदर्शन जारी रखा। पार्टी की महिला इकाई ने कोलकाता में घटना के खिलाफ रैली निकाली और केंद्र और उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार से महिलाओं और अल्पसंख्यकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कदम उठाने की मांग की।

रैली को संबोधित करते हुए तृणमूल की महिला इकाई की अध्यक्ष व राज्य की मंत्री चंद्रिमा भट्टाचार्य ने भाजपा शासित राज्यों में दलितों, महिलाओं और अल्पसंख्यकों के खिलाफ ‘बढ़ रहे हमलों’ को रोकने में कथित तौर पर असफल होने पर पार्टी की निंदा की और कहा कि केंद्र ने हाल के महीनों में ऐसी घटनाओं पर कथित तौर पर चुप्पी साध ली है।

तृणमूल कांग्रेस महिला शाखा की रैली दक्षिण कोलकाता के जादवपुर से लेकर गोलपार्क तक निकली। इसी तरह का प्रदर्शन पार्टी की महिला इकाई ने मंगलवार को भी किया था जिसमें सैकड़ों की संख्या में महिला कार्यकर्ता शामिल हुई थी। भाजपा पर तीखा हमला करते हुए भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा शासित राज्यों में महिलाओं और दलितों पर होने वाले हमलों में कोई कमी नहीं आई है।

वहीं, भगवा पार्टी बंगाल में लोकतांत्रिक प्रदर्शन के नाम पर अराजकता फैला रही है। दिन में भाजपा के राज्य सचिवालय तक निकाले गए मार्च का संदर्भ देते हुए भट्टाचार्य ने कहा कि हमारा विरोध प्रदर्शन शांतिपूर्ण रहता है, लेकिन देखिए वे (भाजपा) कैसे बंगाल में हिंसा भड़का रहे हैं। भाजपा लोकतंत्र में विश्वास नहीं करती है।उल्लेखनीय है कि तृणमूल कांग्रेस की रैली में शामिल कुछ प्रदर्शनकारियों ने ‘‘मैं भी दलित’’ लिखी हुई तख्तियां अपने हाथों में ली हुई थीं जबकि कुछ माला के साथ प्रदर्शन में शामिल हुईं।

इस रैली में दक्षिण कोलकाता से तृणमूल सांसद माला राय भी मौजूद थीं। इसी तरह की रैली पार्टी की महिला इकाई द्वारा राज्य के विभिन्न जिलों में भी निकाली गई। गौरतलब है कि हाथरस कांड के खिलाफ मुख्यमंत्री व तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने पार्टी की ओर से विरोध प्रदर्शनों की श्रृंखला शुरू की थी। तृणमूल कांग्रेस द्वारा शनिवार को निकाली गई पहली विरोध रैली में ममता स्वयं शामिल हुईं और भाजपा को देश की सबसे बड़ी महामारी करार दिया था। 


ADVERTISEMENT