एथेनॉल के दाम पर मोदी कैबिनेट ने लिया फैसला, बड़े स्तर पर जूट पैकजिंग को भी मंजूरी


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई में गुरुवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कैबिनेट के फैसलों की जानकारी दी. कैबिनेट ने एथेनॉल, जूट और देश में मौजूद बांधों को लेकर फैसले लिए हैं.

केंद्रीय कैबिनेट ने गुरुवार को एथेनॉल की खरीद के नए तंत्र को मंजूरी दी है, साथ ही दामों को बढ़ाया गया है. इसके साथ ही साल 2021-21 के लिए इथेनॉल के नए रेट तय किए गए हैं, जो कि अब 62.65 रुपये प्रति लीटर तक होगा.

 

इसके अलावा अब जूट के बैग को बढ़ावा देने के लिए खाद्यान के सामान की जूट के बैग में पैकिंग की जाएगी. अब खाद्यान की सौ फीसदी पैकजिंग जूट के थैलों और चीनी के बीस फीसदी सामान की पैकजिंग जूट के थैलों में ही होगी. आम लोगों के लिए जूट के थैलों का क्या दाम होगा, इसका फैसला कमेटी करेगी.

कैबिनेट बैठक में बांधों की सुरक्षा और मेंटनेंस के लिए योजना के दूसरे और तीसरे चरण को मंजूरी दी गई है. ये परियोजना दो चरणों में पूरी होगी, जिसकी लागत दस हजार करोड़ रुपये तक का होगा. इस योजना के तहत मौजूदा बांधों को नई तकनीक के आधार पर तैयार किया जाएगा, जो बांध काफी पुराने हो गए हैं उनमें सुधार किया जाएगा और अन्य कामों को पूरा किया जाएगा.

बांधों से जुड़ी योजना के बजट का 80 फीसदी हिस्सा वर्ल्ड बैंक और AIIB से आएगा. साथ ही 19 राज्य इस योजना में शामिल हो गए हैं. योजना के दूसरे फेज़ में बांधों की संख्या को बढ़ाया जाएगा, शुरुआत में कुल 736 बांध शामिल किए गए हैं. बांधों की सुरक्षा के अलावा उन्हें टूरिस्ट प्लेस बनाने के रास्तों को तलाशा जाएगा. 


ADVERTISEMENT