न ड्रग्स की रिकवरी, न मेडिकल टेस्ट, फिर भी NCB के शिकंजे में क्यों फंस रहे हैं सितारे

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स कनेक्शन ने बॉलीवुड को हिलाकर रख दिया है. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो यानी एनसीबी ने इस दौरान दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, रकुल प्रीत सिंह और श्रद्धा कपूर जैसे सितारों समेत 7 लोगों को पूछताछ के लिए समन भेज दिया है. अब 25 सितंबर को दीपिका पादुकोण से पूछताछ होगी. जबकि सारा अली खान और श्रद्धा कपूर से 26 सितंबर को सवाल जवाब किए जाएंगे. गुरुवार को रकुल प्रीत और सिमोन खंबाटा से पूछताछ की जाएगी. 

अब ऐसे में सवाल उठ रहा है कि बॉलीवुड के जो बड़े नाम सामने आए हैं, उनके पास से ना तो ड्रग्स की रिकवरी हुई है और ना ही उनका कोई मेडिकल टेस्ट हुआ, फिर भी वो लोग एनसीबी के शिकंजे में क्यों फंसते जा रहे हैं. इस सवाल का जवाब हम आपको बताने जा रहे हैं.

दरअसल, नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो इस मामले में किसी एक व्यक्ति विशेष के खिलाफ नहीं बल्कि पूरे एक रैकेट या यूं कहें कि एक बड़े ड्रग सिंडिकेट को मानकर कार्रवाई को आगे बढ़ा रहा है. इसी वजह से पहले एनसीबी की टीम ने रिया को नहीं पकड़ा बल्कि उसके आस-पास के उन ड्रग पेडलर्स को पकड़ा गया, जिनके माध्यम से ड्रग की सप्लाई हो रही थी.

उन पेडलर्स से पूछताछ की गई. जिसमें कई अहम नाम सामने आए. जिनके नाम का खुलासा हुआ वो भी एनसीबी के हत्थे चढ़ गए. मोबाइल पर होने वाले व्हाट्सएप चैट अहम सबूत बन गए. इसके बाद एनसीबी अदालत गई. अपनी बात रखी और बड़ी खिलाड़ियों के खिलाफ शिकंजा कसने की बात कही. इस तरह से एक बाद एक बड़े नाम सामने आते गए.

एनसीबी ने योजना बनाकर रिया चक्रवर्ती के रैकेट का पर्दाफाश किया. सारे कनेक्शन बेनकाब हो गए. फिर क्वान कंपनी और जया साहा का नाम सामने आया. इसी कंपनी की करिश्मा बेनकाब हो गईं. एक के बाद एक कड़ियों को जोड़ते हुए एनसीबी ने बॉलीवुड के सबसे बड़े ड्रग्स सिंडिकेट का खुलासा कर दिया. जया साहा के कई लोगों के साथ चैट सामने आ गए. दरअसल, जया एक फैसिलिटेटर के तौर पर काम रही थी.

व्हाट्सएप चैट इसके बड़े सबूत हैं. यही वजह है कि एनसीबी को इस बात से कोई मतलब नहीं कि कौन ड्रग ले रहा था, कौन नहीं. उनके पास से रिकवरी हुई या नहीं. उनका मेडिकल हुआ या नहीं. मेडिकल में आया ही नहीं. बल्कि वो एनसीबी इस ड्रग सिंडिकेट में शामिल हर चेहरे को बेनकाब करना चाहता है. एनसीबी का मकसद इस ड्रग सिंडिकेट की हर परत को खोलना है. 

मसलन ड्रग्स के लिए किसी ने कार्ड से पैसे दिए. कैश दिया. किसी ने ड्रग मंगाई और किसी ने ड्रग ली. इस्तेमाल की. किसी को ड्रग पहुंचाई. इसलिए ऐसे में मेडिकल एग्जामिन मायने नहीं रखता. यही वजह है कि बॉलीवुड के कई बड़े सितारे एनसीबी के शिकंजे में फंसते जा रहे हैं. और दीपिका पादुकोण, सारा अली खान, रकुल प्रीत सिंह और श्रद्धा कपूर जैसे सितारों के सितारे गर्दिश में नजर आ रहे हैं.


ADVERTISEMENT