खगड़िया में गंगा ब्रिज के पाया से टकराई ओवरलोड नाव, लाेगों ने कूदकर बचाई जान, एक लापता


गंगा नदी में यात्रियों से भरी एक नौका के निर्माणाधीन अगुवानी-सुल्तानगंज महासेतु के 11 नंबर पाए से टकरा कर दुर्घटनाग्रसत हो गई। सोमवार की शाम हुई इस दुर्घटना के दौरान कई यात्रियों ने नदी में कूद कर जान बचाई तो कई गिर कर डूबने लगे। घटना की सूचना मिलते ही अन्य नौकाएं नदी में पहुंचीं और उनके नाविकों ने डूबते लोगों को बाहर निकाला। उन्‍होंने यात्रियों को नौकाओं पर बिठाकर सुरक्षित अगुवानी तट पर पहुंचाया। दुर्घटना में एक यात्री डूबने से लापता हो गया। जबकि, दो जख्मी हो गए। नौका पर 70 यात्रियों के सवार होने की बात कही जा रही है। हालांकि, जिला प्रशासन से 50 लोगों के सवार होने की जानकारी दी है।

सुल्तानगंज से खुली थी यात्रियों से खचाखच भरी नाव

जानकारी के अनुसार यात्रियों से खचाखच भरी एक बड़ी नौका सुल्तानगंज घाट से अगुवानी घाट के लिए खुली थी। बीच नदी में वह निर्माणाधीन अगुआनी-सुलतागंज सेतु के पाए से टकरा गई। नौका के डगमगाने से कुछ यात्री नाव से नदी में गिर पड़े। इससे मची अफरा-तफरी में कुछ यात्रियों ने नदी में छलांग लगा दी। वैसे करीब एक दर्जन यात्रियों में से एक यात्री को छोड़कर अन्य को बचा लिया गया है।

दुर्घटना में एक यात्री लापता, दो जख्‍मी

लापता यात्री तेमथा राका के श्रवण कुमार बताए जा रहे हैं। उनके पुत्र रवि कुमार ने अधिकारियों को उनके लापता होने की बात कही है। वह पिता के साथ नाव पर सवार थे, लेकिन पिता अबतक नहीं लौटे हैं। न ही उनसे संपर्क हो पा रहा है। जख्मियों मे खगड़िया जिले के महेशखूंट थाना क्षेत्र के गौछारी गांव के जयचंद चौरसिया व थेमाय गांव के सर्वेश कुमार शमिल हैं। उनमें से जयचंद की हालत गंभीर है। परबत्ता के सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें अन्यत्र रेफर कर दिया गया है। एसपी अमितेश कुमार, एसडीओ सुभाषचंद्र मंडल, एसडीपीओ पीके झा व अन्य अधिकारियों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और घटना की जानकारी ली।

ADVERTISEMENT