केरल विमान हादसे में बचे यात्री ने बताया- एक झटके के बाद सुन्न हो गया दिमाग


केरल के कोझीकोड में शुक्रवार को दर्दनाक विमान हादसा हुआ था जिसमें 18 लोगों की मौत हो गई और दर्जनों लोग घायल हो गए. इस विमान हादसे में बचे लोगों ने 'इंडिया टुडे' से उन खौफनाक पलों को साझा किया है, जिसमें उनकी जिंदगी मौत को छूकर निकल आई.

केरल के रंजीत पानागढ़ उसी विमान में सवार थे जो हादसे का शिकार हो गया. दुबई-कोझीकोड फ्लाइट IX 1344 में सवार रंजीत को कासरगोड़ जाना था. हादसे के वक्त उन्हें लगा कि अब वे अपने घर नहीं लौट पाएंगे, लेकिन उनकी जिंदगी बच गई. उनकी तरह और भी कई लोग हैं जो मौत के मुंह से निकल कर बाहर आए हैं और अब भगवान और अपने शुभेच्छुओं को शुक्रिया कह रहे हैं.

रंजीत का फिलहाल कोझीकोड के ही एक अस्पताल में इलाज चल रहा है. वे दुबई में प्लंबर का काम करते हैं और हादसाग्रस्त विमान से वे कासरगोड के अपने गांव में लौट रहे थे. रंजीत ने कहा, पायलट ने एक बार अनाउंस किया कि विमान लैंड होने वाला है, लेकिन कुछ गड़बड़ी के कारण उसने विमान को फिर ऊपर उठा लिया. दूसरी बार जब उसने लैंड किया तो मुझे याद नहीं कि क्या हुआ. हम लोग कुछ समझ पाते उससे पहले ही सीने में जोर का झटका लगा. रंजीत ने अपनी बगल वाली सीट पर देखा कि उसके दोस्त के नाक से लगाातर खून निकल रहा है.

रंजीत और उसके दोस्त विमान की पिछली सीट पर सवार थे. विमान की क्रैश लैंडिंग के बाद जो लोग अपने से निकल सकते थे, वे इमरजेंसी दरवाजे से बाहर आ गए. रंजीत ने कहा, उस पल के बारे में सोच कर ही पूरा शरीर कांप जाता है. रंजीत ने 'इंडिया टुडे' से फोन पर उस मनहूस रात की जानकारी दी. रंजीत एक या दो दिन में हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हो जाएंगे जिसके बाद उन्हें अपने घर जाने का मौका मिलेगा. रंजीत की स्थिति यह है कि वे अब भी पूरी घटना के बारे में बयां नहीं कर पा रहे हैं.

एक ऐसे ही यात्री यूजिन पुलिक्कथोडी हैं जो काफी खुशकिस्मत रहे क्योंकि इतने बड़े हादसे में उन्हें मामूली चोट आई है. यूजिन अब अपने घर पर आराम फरमा रहे हैं. उन्होंने बताया कि दो-तीन सेकेंड तो चारों और चिल्लाने की आवाज थी और उसके बाद उनका दिमाग एकदम से सुन्न पड़ गया. यूजिन ने बताया कि दो-तीन सेकेंड के लिए उन्हें कुछ भी दिखाई नहीं पड़ा और दिमाग पूरी तरह से बंद हो गया था. बाद में उन्होंने देखा कि चारों ओर सामान बिखरे पड़े थे, लोग अपनी सीटों में दुबके चिल्ला रहे थे. यूजिन अब अपने घर में हैं और उस सदमे से निकलने की कोशिश कर रहे हैं.

कई यात्रियों और उनके परिवार के लिए लोगों का बच निकलना किसी चमत्कार से कम नहीं है. बता दें, शुक्रवार रात 190 यात्रियों को दुबई से ला रहा एयर इंडिया का विमान कोझीकोड एयरपोर्ट पर हादसे का शिकार हो गया. लैंडिंग के बाद विमान 35 फीट गहरी खाई में सरक गया जहां उसके दो टुकड़े हो गए. गनीमत रही कि विमान में आग नहीं लगी और एक बड़ा हादसा होने से बच गया. अब तक इस घटना में 18 लोगों की मौत हुई है, 22 यात्री गंभीर रूप से घायल हैं और 149 लोगों का अलग-अलग हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है.

ADVERTISEMENT