बंगाल में BJP विधायक की मौत पर बवाल, CID को सौंपी गई जांच


पश्चिम बंगाल के हेमताबाद सीट से बीजेपी विधायक देबेंद्र नाथ रे की मौत के मामले की जांच सीआईडी करेगी. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सीईडी जांच के आदेश दे दिए हैं. बीजेपी ने आरोप लगाया कि देबेंद्र नाथ रे की हत्या की गई और उनकी लाश को फंदे से लटका दिया गया. बीजेपी ने हत्या के पीछे तृणमूल कांग्रेस का हाथ बताया है.

इस बाबत बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि हेमताबाद से विधायक देबेंद्र नाथ रे की संदिग्ध जघन्य हत्या बेहद चौंकाने वाली और घटिया है. यह ममता सरकार में गुंडा राज और कानून व्यवस्था की विफलता को साबित करता है. लोग भविष्य में इस तरह के सरकार को माफ नहीं करेंगे. हम इसकी कड़ी निंदा करते हैं.

वहीं, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि मैं हेमताबाद से विधायक देबेंद्र नाथ रे की बेरहमी से हत्या की कड़ी निंदा करता हूं. पश्चिम बंगाल में कानून-व्यवस्था की स्थिति दिन-प्रतिदिन बिगड़ती जा रही है. मैं ममता दीदी से पूछना चाहता हूं कि क्या यह आपके सपने का बंगाल है? दीदी, आपने राज्य को विफल कर दिया है.

बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि लोकतंत्र को कैसे कुचला जाता है पश्चिम बंगाल की ममता सरकार इसका जीवंत उदाहरण है. राजनीतिक मतभेदों को हिंसक तरीके से दबाया जा रहा है, लेकिन लोकतंत्र का ये माखौल ज्यादा दिन का नहीं है. आखिर ममता राज का फैसला तो जनता ही करेगी.

पश्चिम बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि पश्चिम बंगाल में जंगल राज की स्थिति है. हेमताबाद के भाजपा विधायक देबेंद्र नाथ रे ने अपने घर से 2.5 किलोमीटर दूर हत्या कर दी. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने कहा था कि अन्याय के खिलाफ लड़ो, प्रतिरोध पैदा करो और अगर बदला लेना है तो ले लो.

ADVERTISEMENT