Covid Coronavirus Vaccine India: 65 साल के इस शख्‍स पर कोरोना वैक्सीन का परीक्षण, जानिए इनके बारे में


संकट के समय देश को जब भी जरूरत पङी  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के स्वयंसेवक मदद को हमेशा आगे रहे हैं। लाकडाउन के दौरान करोड़ों लोगों की मदद करने.के बाद जब कोरोना वैक्सीन की मानवीय परीक्षण के लिए लोगों की जरूरत पर रही है तो संघ के स्वयंसेवक खुद से आगे आ रहे हैं। दुर्गापुर के स्वयंसेवक चिरंंजीत धीवर के बाद विश्व हिंदू परिषद के केंद्रीय संयुक्त महामंत्री व संघ के स्वयंसेवक डाक्टर सुरेंद्र कुमार जैन शामिल हो गए हैं। 65 वर्षीय जैन ने संबंधित पत्र हरियाणा के रोहतक स्थित पंडित भगवत दयाल शर्मा हेल्थ यूनिवर्सिटी को चार जुलाई को सौंप दिया। ये भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) की ओर से तय  देश के उन 12 संस्थानों में शामिल है जहां वैक्सीन का मानवीय परीक्षण होना है। 

परीक्षण के दूसरे चरण में शामिल होने की मिली अनुमति

दैनिक जागरण से बातचीत में एसके जैन ने बताया कि वहां से दूसरे चरण के परीक्षण में शामिल होने की अनुमति मिल गई है।  पहले चरण में परीक्षण 55 वर्ष की आयु वाले  लोगों पर होना है।  वैक्सीन का मानवीय परीक्षण कोरोना पाजिटिव व निगेटिव दोनों तरह के व्यक्ति पर होना है। जैन कोरोना निगेटिव हैं। उन्होंने कहा कि देश को इस तरह के काम के लिए लोगों को जरूरत है तो किन्हीं न किन्हीं को आगे आना ही होगा। शुरू में परिवार के लोग तैयार नहीं हो रहे थे, बाद में समझाने पर पत्नी व दोनों बच्चे मान गए। 

पूरा परिवार संघ से जुड़ा है, वहीं से मिली प्रेरणा

डाक्टर जैन हिंदू कालेज रोहतक के प्राचार्य पद से सेवानिवृत्त हैं। पूरा परिवार संघ से जुड़ा है। स्वयं संघ के तृतीय वर्ष प्रशिक्षित स्वयंसेवक हैं। सेवानिवृत्ति के बाद पूरा समय विहिप के कार्य के लिए दे रहे हैं । पूरे देश में इनका प्रवास होता है। पत्नी डाक्टर अंजली जैन हरियाणा की राष्ट्र सेविका समिति की प्रांत कार्यवाहिका हैं।

ADVERTISEMENT