बिहार पुलिस के ADG बोले- प्रवासियों के लौटने से बढ़ेंगे अपराध, मचा बवाल


बिहार पुलिस के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) अमित कुमार ने सूबे के सभी जिलों के पुलिस कप्तान को खत लिखा है, जिसमें उन्होंने आशंका जताई है कि प्रवासी मजदूरों के वापस आने से बिहार में अपराध बढ़ सकते हैं.

एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) अमित कुमार ने 29 मई को लिखे अपने खत में यह भी कहा कि बिहार लौटने वाले लाखों प्रवासी मजदूरों को जरूरी नहीं है कि रोजगार मिले. लिहाजा वो अपने परिवार का भरण-पोषण करने के उद्देश्य से अनैतिक और गैरकानूनी काम कर सकते हैं. अमित कुमार ने कहा कि ऐसा होने से प्रदेश में अपराध में बढ़ सकते हैं.

अमित कुमार ने सभी जिला के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिया कि प्रवासी मजदूरों के वापस लौटने से ऐसे कोई हालात पैदा न हों, इसके लिए कार्य योजना तैयार की जानी चाहिए. बिहार पुलिस के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) अमित कुमार का खत सामने आने के बाद बवाल मच गया.

आरजेडी नेता और बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने इसी मुद्दे को लेकर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की और सूबे के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला. इस दौरान तेजस्वी यादव ने उस चिट्ठी को भी फाड़ डाला, जो एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) अमित कुमार ने प्रवासी मजदूरों को लेकर लिखी थी.

इस पूरे विवाद के बाद एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) अमित कुमार ने इस पत्र को 4 जून को वापस ले लिया है. आपको बता दें कि चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस ने भारत समेत पूरी दुनिया में कहर बरपा रखा है. मोदी सरकार ने इस जानलेवा वायरस को फैलने से रोकने के लिए देशव्यापी लॉकडाउन कर रखा है.

लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों का कामकाज ठप हो गया है और वो अपने घरों के लिए पलायन कर रहे हैं. बिहार में काफी संख्या में पलायन देखा जा रहा है. दिल्ली, मुंबई समेत अन्य शहरों से काफी संख्या में प्रवासी मजदूर बिहार पहुंच रहे हैं.

ADVERTISEMENT