Coronavirus: अध्ययन के अनुसार- 21-28 जून के बीच आएंगे कोरोना के सर्वाधिक मामले, अक्टूबर तक मामले कम होने का अनुमान


महानगर के जादवपुर विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की एक टीम के अध्ययन में कहा गया है कि 21 से 28 जून के बीच कोरोना वायरस संक्रमण के हर दिन सर्वाधिक करीब 7,000-7,500 मामले सामने आने की आशंका है। अध्ययन में अनुमान लगाया गया है कि जून के अंत तक कोविड-19 के मामलों में इजाफा होते रहेगा। शोध में शामिल जादवपुर विश्वविद्यालय के एक वरिष्ठ प्रोफेसर नंदादुलाल बैरागी का कहना है कि जुलाई के दूसरे सप्ताह से संक्रमण के मामले हर दिन घटने लगेंगे ।’

संक्रमण रोकने के उपायों, जांच बढ़ाने से अक्टूबर तक मामले कम हो जाने का अनुमान है। जादवपुर विश्वविद्यालय में गणितीय जीवविज्ञान और पारिस्थितिकी (बीएमबीई) केंद्र के प्रोफेसर और संयोजक बैरागी और पांच अन्य अध्ययनकर्ताओं ने यह शोध किया है। भारत सरकार के विज्ञान और इंजीनियरिंग अनुसंधान बोर्ड द्वारा मंजूर गणितीय प्रारूप पर अध्ययन में कोविड-19 के मामले से जुड़े आंकड़ों का विश्लेषण किया गया।

बैरागी ने कहा कि अक्टूबर के पहले सप्ताह में देश में पांच लाख मामले हो जाएंगे और इसके बाद इसमें गिरावट आने लगेगी। उन्होंने कहा कि कई लोग बिना लक्षण वाले मरीजों के संपर्क में आने से संक्रमित होंगे। इस कारण से संक्रमण के मामले बढ़ेंगे। वरिष्ठ शोधकर्ता ने कहा कि कोई दवा और टीका नहीं होने के कारण भारत को आर्थिक गतिविधियों को चालू करने के उपायों पर गौर करते हुए संक्रमण रोकने के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को जारी रखना होगा। 

ADVERTISEMENT