मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कुशल नेतृत्व के कारण बिहार में कोरोना संक्रमण काबू में: डॉ.मधुरेन्दु पांडेय


प्रदीप उपाध्याय,युवा शक्ति
-------------------
पटना: जदयू चिकित्सा सेवा प्रकोष्ठ के प्रदेश उपाध्यक्ष डॉ. मधुरेंदु पांडेय ने आज कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कोरोना के खिलाफ इस जंग को मजबूती देने का काम किया है। किंतु विपक्षी दल निजी स्वार्थ कि राजनीति के चलते कोरोना के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने का प्रयास कर रहे हैं जो कि निंदनीय कृत्य है।सूबे की जनता इस नकारात्मक रवैये का जवाब जरूर देगी।उन्होंने कहा कि जहां एक तरफ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कोरोना को लेकर काफी संवेदनशील हैं और उसके बचाव व रोकथाम हेतु दिन रात कार्यशील हैं वहीं दूसरी तरफ विपक्ष के कुछ लोग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रयासों को असफल करने का प्रयास कर रहे हैं,लेकिन उनका अपने षडयंत्र में कामयाब होना मुश्किल है।इसके दो प्रमुख कारण है।एक,जो बदनाम कर रहे हैं उनका ट्रेक रिकॉर्ड इतना बुरा है,उनकी बातों पर यकीन करना मुश्किल है।दूसरा सच्चे प्रयासों में सच्चाई कि खुश्बू होती है।जनता जनार्दन विपक्ष के नकारात्मक रवैए का जवाब जरूर देगी। कोरोना कि लड़ाई में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पूरे देश के अन्य राज्यों से काफी बेहतर कार्य किया है।

डॉ.पांडेय ने कहा कि बिहार जैसे प्रांत में प्रवासी मजदूरों की संख्या अन्य राज्यों से काफी ज्यादा है तो थोड़ी कठिनाई तो होगी।विपक्षी लोग वस्तुस्थिति नहीं समझ रहे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सबसे पहले प्रवासी मजदूरों के बैंक खाते के माध्यम से सीधे एक हजार रुपए बैंक खाते में दिया।तकरीबन 19 लाख लोगों को दिया जा चुका है।थोड़े बहुत बचे है उन्हें भी देने की प्रक्रिया चल रही है।प्रवासी मजदूरों को लाने के लिए व उनके घर तक पहुंचाने के लिए बिहार सरकार कटिबद्ध है।उत्तर प्रदेश के बाद बिहार ऐसा राज्य है जहां सबसे ज्यादा ट्रेने चलाने की स्वीकृति प्रदान की गई है,जिससे काफी संख्या में प्रवासी मजदूर अपने घर को लौट रहे हैं।इसके अलावा और भी कई ट्रेनें चलाने की योजना है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी प्रवासी मजदूर जो पैदल घर लौट रहे हैं उनसे आग्रह किया है कि वे पैदल न चलें और नजदीकी थाने को सूचित करें।आपको घर तक प्रशासन पहुंचायेगा.

ADVERTISEMENT