Lockdown: कोलकाता में बिना मास्क पहने घर से बाहर जा रहा बेटे की पिता ने की हत्या


कोलकाता में शनिवार रात एक 78 वर्षीय शख्स ने अपने 45 वर्षीय दिव्यांग बेटे की हत्या कर दी। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, बाप-बेटे में मास्क को लेकर लड़ाई हुई थी। दरअसल, आरोपित का बेटा लॉकडाउन में घर से बाहर जा रहा था। इस पर उसके पिता ने उसे मास्क पहनने के लिए टोका जिससे उसको गुस्सा आ गया। धीरे-धीरे बाप-बेटे में इस बात पर लड़ाई बढ़ती गई है और हत्या की वारदात सामने आई। बेटे की हत्या करने के बाद आरोपित पिता पुलिस स्टेशन गया और खुद को सरेंडर कर दिया। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर लिया और उसके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपित पिता बंशीधर मलिक श्यामपुकुर पुलिस स्टेशन आया और कहा कि उसने अपने बेटे सिरशेंदु मलिक की हत्या की है। बेटा दिव्यांग था। आरोपित ने एक कपड़े के टुकड़े से बेटे का गला दबाकर हत्या की थी। जांच अधिकारियों के मुताबिक, आरोपित एक निजी फर्म का रिटायर्ड कर्मचारी है, उसका बेटा बेरोजगार था। वह बचपन से ही दिव्यांग था। बाप-बेटे में आए दिन झगड़ा होता रहता था।

उन्होंने बताया कि जब बेटा बाहर जाता तो उसके पिता उसे हमेशा मास्क पहनने को कहते थे, लेकिन वह उनकी बात नहीं मानता था। शनिवार को भी इसी बात को लेकर झगड़ा हो गया और गुस्सा में आकर पिता ने बेटे की हत्या कर दी।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल सरकार ने हावड़ा और कोलकाता के कुछ क्षेत्रों को रेड जोन घोषित कर दिया है। इन इलाकों में कई लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। यहां सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य है। राज्य के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा के मुताबिक शनिवार तक कुल 4,630 नमूनों की जांच की गई और पश्चिम बंगाल में अब हर दिन 400 जांच की जा रही हैं। वहीं 11 अप्रैल तक, सर्वाधिक प्रभावित महाराष्ट्र में 31,841 नमूनों, राजस्थान में 24,817, केरल में 14,163 और दिल्ली में 11,709 नमूनों की जांच की गई है। पश्चिम बंगाल सरकार ने शनिवार को कहा था कि राज्य में संक्रमण के कुल 233(स्वस्थ्य हो कर लौटे व मृतकों समेत) मामले हैं जबकि केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की वेबसाइट संक्रमितों की संख्या 287 बताती है।