लॉकडाउन में इन्हें जरूरतमंदों की है परवाह


युवा शक्ति टीम 
-
-- केयर कांकुड़गाछी ने बांटे 3 हजार मास्क
-- भोजन वितरण का कार्य जारी

कोलकाता : कोरोना महामारी से बचने के लिए जहां लोग अपने परिवारजनों के साथ घरों में दुबके हुए हैं वहीं कुछ लोग अपनी परवाह किए बिना जरूरतमंदों की मदद कर रहे हैैं। ये जानते हुए कि किसी संदिग्ध व्यक्ति के संपर्क में आने से वे भी जानलेवा  संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं, इसके बावजूद वे लॉकडाउन के कारण अभाव से ग्रसित जरूरतमंद लोगों में आवश्यक सामग्रियां बांट रहे हैं। केयर कांकुड़गाछी के सदस्य इसका उदाहरण हैं। इस संस्था की तरफ से लगभग 3 हजार मास्क बांटे जा चुके हैं। संस्था की तरफ से अभावग्रस्त लोगों में भोजन भी वितरित किया जा रहा है।

केयर कांकुड़गाछी के संस्थापक सीए महेंद्र अग्रवाल ने बताया कि इस सेवा कार्य में विधायक परेश पाल का विशेष योगदान है। उनके मार्गदर्शन में संस्था के पदाधिकारी एवं सदस्य सेवारत हैं। सेवा कार्यों में केयर कांकुड़गाछी के अध्यक्ष दीनानाथ गुप्ता, उपाध्यक्ष गोपाल कृष्ण गोयल, सह उपाध्यक्ष कमल जैन, सचिव राकेश गुप्ता, संयुक्त सचिव प्रदीप सिंह, कोषाध्यक्ष एडवोकेट आदित्य बूबना, सह कोषाध्यक्ष मनोज सिंगल, कमेटी मेंबर अमित चौधरी, सीए अजय मित्रूका, सीए राजकुमार अग्रवाल, हरि प्रसाद अग्रवाल, गोविंद काया, अजय पोद्दार, गिरिधर बेरीवाल व सुभाष जायसवाल का अहम योगदान रहा। संजय सिंगल, विजय अग्रवाल, अमर झाझरिया, श्रीराम बुचासिया, बुलबुल जायसवाल तथा हेमंत लोयालका ने सक्रिय भूमिका निभाई। फूड पैकेट वितरण कार्य में 'राइजर बिलिव इन गॉड' ग्रुप ने सहयोग किया। इसकी तरफ से संजय सिंह, रियाज अहमद, रवि जायसवाल व मोनू शर्मा सक्रिय रहे।
केयर कांकुड़गाछी की ओर से शुक्रवार को जरूरतमंदों में 750 पैकेट भोजन भी दिए गए।

महेंद्र अग्रवाल ने बताया कि फूलबागान एवं नारकेलडांगा थाने के जरिए जरूरतमंदों में फूड पैकेट दिए गए। इसमें फूलबागान थाना के ओसी करुणा शंकर सिंह का विशेष सहयोग रहा। समाज के असक्षम बुजुर्गो तथा अन्य जरूरतमंदों को भोजन पहुंचाने सीधे केयर कांकुड़गाछी के सदस्य भी पहुंच रहे हैं। प्रथम दिन 750 फूड पैकेट बांटे गए। इसी तरह 10 दिनों तक भोजन वितरण का सिलसिला जारी रहेगा। जरूरत के अनुसार फूड पैकेट की संख्या के साथ ही दिन भी बढ़ सकते हैं।