बंगाल: लॉकडाउन में बीच सड़क धरने पर बीजेपी सांसद, पुलिस पर परेशान करने का आरोप


कोरोना लॉकडाउन के बीच एक तरफ जहां पश्चिम बंगाल सरकार और केंद्र के बीच टकराव की स्थिति नजर आ रही है, वहीं भारतीय जनता पार्टी दिल्ली से लेकर बंगाल तक में ममता सरकार के खिलाफ मोर्चा खोले हुये है. अब बीजेपी के एक सांसद बीच सड़क पर ही धरने पर बैठ गये और ममता सरकार पर परेशान करने का आरोप लगाया.

बंगाल की बलूरघाट लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी के सांसद सुकंता मजूमदार मंगलवार को दिनाजपुर में धरने पर बैठ गये. दिलचस्प बात ये है कि सांसद बीच सड़क पर पल्ला बिछाकर ही बैठ गये.

सांसद सुकंता मजूमदार का आरोप है कि जब भी वो अपने संसदीय क्षेत्र में जाते हैं तो उन्हें हर जगह रोका जाता है. सांसद ने आरोप लगाया है कि पुलिस द्वारा सांसदों को परेशान किया जा रहा है. उन्होंने ये भी दावा किया कि कोरोना महामारी के बीच पुलिस उन्हें अपने क्षेत्रों में जाकर लोगों की सेवा करने तक का मौका नहीं दे रही है.

सुकंता मजूमदार ने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुये बीच सड़क धरने पर बैठने का फैसला तो किया ही, इसके साथ ही उन्होंने स्थानीय पुलिस स्टेशन को एक पत्र भेजकर ये भी पूछा कि उन्हें रोकने के कारण बताये जाएं.

इससे पहले एक मामला बीजेपी सांसद को हाउस अरेस्ट करने का भी सामने आया है. लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियम तोड़ने पर बीजेपी सांसद जॉन बारला को हाउस अरेस्ट किया गया है.

रविवार को किया था प्रदर्शन

कोरोना वायरस महामारी के बीच बीजेपी लगातार ममता सरकार पर हमलावर है. रविवार को पार्टी के सांसदों ने दिल्ली से लेकर बंगाल तक प्रदर्शन किया था. बीजेपी का आरोप है कि ममता सरकार केंद्र के दिशा-निर्देशों को न तो मान रही है और न ही मौत के सही आंकड़े बता रही है. बीजेपी का कहना है कि कोरोना से लड़ाई के बीच बंगाल में कुव्यवस्था फैली हुई है. वहीं, ममता बनर्जी दावा कर रही हैं कि उन्हें राशन की बजाय भाषण मिल रहा है.