तीसरी आँख से रखी जा रही है, राजधानी पटना पर नजर


युवा शक्ति टीम 
-निशा सिंह
पटना कोरोना वायरस जैसे वैश्विक महामारी से पूरा विश्व में हाहाकार मचा है, समस्त मानव जाति तबाह है। वही भारत भी इससे अछूता नहीं है। अगर बात करे बिहार की तो, अब बिहार में भी कोरोना का व्यापक असर देखने को मिल रहा है और दिन प्रति दिन मरीजों के आंकडो में तेजी से इज़ाफ़ा हो रहा है। इसी कड़ी में सुरक्षा को देखते हुए राजधानी पटना में ड्रोन कैमरा से निगरानी करने की शुरुआत की गई है। किस तरह  से पटना में ड्रोन कैमरे से अब चप्पे-चप्पे की निगरानी रखी जा रही है। पटना के  कई इलाके कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद पटना रेड जोन की तरफ बढ़ गया है। इसके खतरे को भांपते हुए डीएम कुमार रवि ने ड्रोन कैमरे से पटना के कई इलाकों का जायजा लिया। अब राजधानी पटना तीसरी आँख की निगरानी में है। 

गौरतलब है कि ये लॉक डाउन का दूसरा चरण है और कोरोना के आंकड़े लगातार बढ़ते जा रहे लेकिन इसके बाबजूद लोग इसका पालन नहीं कर रहे।उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री के द्वारा आह्वान किया गया था कि कोरोना वायरस जैसे महामारी से बचने का एक मात्र उपाय है कि अपने अपने घरों में रहे और सोसल डिस्टेंसिंग का पालन करे। क्योंकि अभी तक इसका कोई वैक्सीन नही बना है। इसी को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने पहला लॉक डाउन 21 दिनों के लिए किया जिसके बाद इसकी समय सीमा बढ़ा दी गई और दूसरा लौंक डाउन 18 दिनों का किया गया ताकि कोरोना जैसे महामारी से पूरे भारतवासी को निजात मिल सके।

बिहार में लौंक डाउन का कितना हो रहा पालन।

बता दे की राजधानी पटना में लॉक डाउन का पालन कहीं- कहीं हो रहा है तो वही, कहीं- कहीं बिलकुल नहीं हो रहा है। बिहार के अधिकांश जिलों का करीब यही हाल है। हालाकि प्रसाशन अर्लट है और अपने तरफ से प्रसाशन लगातार कोशिश कर रही है लोगो को लौंक डाउन का पालन करने के लिए और जनता में जागरूकता भी लाने में लगातार जुटी है। फिर भी कुछ लोग बातों को नही समझ रहे और बिना काम भी बाहर निकल रहे है।

कोरोना आपदा में कैसा है पटना जिलाधिकारी की कार्यशैली।

Lockdown 1 और Lockdown 2 दोनों में जिला प्रसाशन अपनी अहम भूमिका निभा रहे हैं। वही जिलाधिकारी कुमार रवि के तरफ से लगातार लोगो को जागरूकता के साथ साथ सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन कराने तथा कार्य स्थल पर उन्हें पर्याप्त संख्या में ग्लब्स, मास्क एवं सेनीटाइजर उपलब्ध कराने तथा प्रयोग सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया है। वही जिलाधिकारी कुमार रवि ने पटना के कई जगहों के साथ साथ मिलर हाई स्कूल, पटना, स्थित आपदा राहत केंद्र पर सोशल डिस्टेंस के साथ भोजन सामग्री का वितरण किये। अपने कार्य के प्रति लगातार लोगो को राहत और जागरूकता में अहम भूमिका निभा रहे हैं। ऐसे में पटना जिलाधिकारी के कार्य सराहनीय हैं।