West Bengal: अमित शाह की सभा के बाद बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले


संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थन में रविवार को कोलकाता के शहीद मीनार मैदान में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सभा के बाद पिछले 24 घंटे बंगाल में चार जगहों पर भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले की घटनाएं प्रकाश में आई हैं. इस घटनाओं कई भाजपा कार्यकर्ता जख्मी हुए हैं. वहींं, भाजपा के पार्टी कार्यालय पर भी हमला हुआ है.

जानकारी के मुताबिक, पहली घटना सोमवार सुबह उत्तर 24 परगना जिले के न्यू बैरकपुर के लेनिनगढ़ ए-ब्लॉक में घटी जहां बदमाशों ने एक भाजपा नेत्री के घर को लक्ष्य कर गोली चलाई. सोमवार सुबह भाजपा नेत्री अर्चना विश्वास के घर पर दो राउंड फायरिंग की गई. भाजपा का दावा है कि अमित शाह की रविवार को बैठक में वह शामिल हुईं थी, इसीलिए तृणमूल कांग्रेस के आश्रित उपद्रवियों ने उनके घर पर हमला किया। दूसरी ओर, तृणमूल का कहना है कि यह भाजपा के अंदरूनी कलह का नतीजा है. इस घटना में पुलिस ने राजू विश्वास नामक एक युवक को गिरफ्तार किया है.

वीरभूम में भाजपा के पार्टी कार्यालय को जलाया

उधर, वीरभूम के इलमबाजार थाने के सुनबुनी गांव में रविवार देर रात भाजपा के पार्टी कार्यालय को जलाने की घटना घटी है. भाजपा का आरोप है कि तृणमूल कांग्रेस के आश्रित उपद्रवियों ने घटना को अंजाम दिया है, क्योंकि गांव में भाजपा की संगठनात्मक शक्ति बढ़ रही थी जिससे तृणमूल भयभीत थी. हालांकि, तृणमूल की ओर से आरोप को पूरी तरह से खंडन किया गया है. इस संबंध में भाजपा के कार्यकर्ताओं का कहना है कि अमित शाह की सभा से वापस आने पर पार्टी कार्यालय ठीक-ठाक था, लेकिन सुबह देखा गया कि पार्टी कार्यालय जलकर राख हो गया है.

कोलकाता व हुगली में अमित शाह की सभा से लौट रहे भाजपा कार्यकताओं पर हमले

सीएए के समर्थन में रविवार को कोलकाता के शहीद मीनार मैदान में हुई केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की सभा से लौट रहे भाजपा कार्यकताओं पर हमले हुए हैं. भाजपा का आरोप है कि महानगर के हेस्टिंग्स व हुगली जिले में शाह की सभा से लौट रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर तृणमूल के कांग्रेस के आश्रित उपद्रवियों ने हमला किया. इन घटनाओं में दर्जन भर कार्यकर्ता जख्मी हुए हैं. इस घटना में भाजपा की ओर से थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. 

गोली मारो... नारे के लिए भाजपा के तीन कार्यकर्ता गिरफ्तार

कोलकाता पुलिस ने सोमवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की रैली में जाते समय कथित रूप से देश के गद्दारों को, गोली मारो...नारे लगाने वाले भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है. कोलकाता के न्यू मार्केट थाने के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि भड़काऊ नारे लगाने की यह हरकत भाजपा समर्थकों ने की थी। यह संज्ञेय अपराध है.

आरोपियों ने रैली स्थल शहीद मीनार मैदान में जाते समय एस्प्लेनेड मार्ग पर गुजरते समय नारेबाजी की थी. एक व्यक्ति ने रविवार को न्यू मार्केट थाने में शिकायत दर्ज कराई, जिसके आधार पर इन तीनों को गिरफ्तार किया गया. इनके नाम ध्रुव बसु, पंकज प्रसाद और सुरेंद्र कुमार तिवारी है। उन्हें रविवार देर रात गिरफ्तार किया गया. उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की दो गैर-जमानती धाराओं समेत चार धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्हें आज अदालत में पेश किया जाएगा.

इधर, कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी पर बंगाल भाजपा ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि महज सिर्फ नारेबाजी के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया है. यह सब तृणमूल काग्रेस के इशारे पर हो रहा है. भाजपा कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की थी न कि गोली चलाई थी. हालांकि कल घटना सामने आने के बाद भाजपा की पश्चिम बंगाल इकाई की तीखी आलोचना हुई थी। लेकिन भाजपा नेताओं ने इस घटना में पार्टी के किसी भी कार्यकर्ता की संलिप्तता से इनकार करते हुए इसे तृणमूल कांग्रेस की कारस्तानी बताया था.