तेजस्वी बोले- लालू शासन के 15 वर्षों में दोष हो सकते हैं, अब नया बिहार बनाएंगे


बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) नेता तेजस्वी यादव ने रविवार को पटना में 'बेरोजगारी हटाओ यात्रा' की शुरुआत की. इस दौरान उन्होंने नीतीश सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने यह भी कहा कि लालू शासन के 15 वर्षों में कुछ दोष हो सकते हैं, लेकिन यह एक नया युग है और मैं एक नए बिहार के निर्माण का वादा करता हूं.

तेजस्वी यादव ने कहा, 15 साल के नीतीश सरकार में 55 घोटाले हुए हैं. डीजीपी का भी कहना है कि अगर वे अकेले हैं, तो उन्हें भी अपराधियों द्वारा गोली मारी जा सकती है. राज्य में कानून और व्यवस्था की यही स्थिति है. तेजस्वी यादव ने कहा, अगर हमारी सरकार सत्ता में आएगी तो हम डोमिसाइल सिस्टम लागू करेंगे और 85 फीसदी रोजगार बिहार के लोगों को देंगे. उन्होंने कहा, 8 महीने बाद हम लोग सरकार बनाएंगे. हम लोगों को कृष्णा बनकर सुदामा की सेवा करनी पड़ेगी और शबरी बनकर राम की भी सेवा करनी पड़ेगी. उन्होंने पार्टी के कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे अपने व्यवहार में बदलाव लाएं और अच्छा बर्ताव पेश करें. ऐसे में हम सरकार बनाने में कामयाब होंगे.

बेरोजगारी हटाओ यात्रा पर निकले तेजस्वी यादव ने कहा, हमने सभी मंचों पर सीएए, एनआरसी, एनपीआर का विरोध किया है. जब नीतीश कुमार सरकार में थे, तब वे आरएसएस के खिलाफ मुझे चेतावनी देते थे. लेकिन आज वे आरएसएस की गोद में बैठे हैं. लालू जेल जा सकते हैं लेकिन उन्होंने हमेशा सांप्रदायिक ताकतों को हराया है. बीजेपी को अहसास होना चाहिए कि लालू बीमार हैं मगर जिंदा हैं.

इससे पहले तेजस्वी के भाई और पूर्व मंत्री तेजप्रताप यादव ने कहा, मैं तेजस्वी को अपने खून का एक एक कतरा देने को तैयार हूं. तेजप्रताप ने कहा, तेजस्वी जिस बस में सवार होकर बेरोज़गारी हटाओ यात्रा निकाल रहे हैं, वो गरीब, बैकवर्ड और अति पिछड़ा का रथ है. उन्होंने कहा, है किसी माई के लाल में दम जो इसे रोक कर दिखाए. मैं लालू और राबड़ी का बेटा इसकी चुनौती देता हूं.

बता दें, बिहार में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव में आरजेडी ने बेरोजगारी को बड़ा मुद्दा बनाया है. बेरोजगारी के मुद्दे पर बिहार सरकार को घेरने के लिए आरजेडी नेता और पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने रविवार को अपनी यात्रा शुरू की. इस यात्रा का नाम 'बेरोजगारी हटाओ' यात्रा रखा गया है. यात्रा के लिए एक बस को अत्याधुनिक तरीके से तैयार कराया गया है. तेजस्वी के लिए जो बस बनाई गई है, वह गहरे हरे रंग की है. इस पर बड़े शब्दों में बेरोजगारी हटाओ यात्रा लिखा गया है और बस को 'युवा क्रांति रथ' नाम दिया गया है. इसके सामने के शीशे पर 'नया बिहार' लिखा हुआ है.