About Me

header ads

जम्मू कश्मीर में आतंकी घटना, नागरिक की गोली मारकर हत्या


जम्मू कश्मीर में एक तरफ जहां आतंकी घटनाओं में कमी लाए जाने के दावे किए जा रहे हैं, वहीं दूसरी ओर रुक-रुककर अभी भी आतंकी वारदातें देखने को मिल रही है. अब पुलवामा में आतंकी घटना देखने को मिली है. जहां त्राल में एक नागरिक की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी.

मारे गए नागरिक का नाम गुलाम नबी मीर है और पेशे से ठेकेदार है. आतंकवादियों ने पेशे से ठेकेदार 55 वर्षीय गुलाम नबी को उनके घर के बाहर शाम 7.30 बजे गोली मार दी. इसके बाद मीर को एक अस्पताल पहुंचाया गया जहां डॉक्टरों उन्हें मृत घोषित कर दिया.

हालांकि, किसी भी आतंकी संगठन ने अभी तक मर्डर की जिम्मेदारी नहीं ली है. इससे पहले जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों ने दो अलग-अलग आतंकवादी संगठनों के पांच सक्रिय आतंकवादियों को गिरफ्तार किया था.

अधिकारियों ने शनिवार को बताया था, 'विशेष सूचना पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने बडगाम जिले के चदूरा इलाके में सक्रिय हिज्बुल मुजाहिदीन के गिरोह का भंडाफोड़ किया था.'

इससे पहले शुक्रवार को जम्मू एवं कश्मीर की पुलिस ने लाल चौक पर एक ग्रेनेड फेंकने की घटना में शामिल जैश-ए-मोहम्मद के मॉड्यूल का पर्दाफाश करने का दावा किया. पुलिस ने रविवार को पूर्व पीडीपी विधायक खलील बंध के भतीजे सहित जैश के तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया था.

पुलिस के अनुसार, आतंकियों के तीनों सहयोगियों की गिरफ्तारी विश्वसनीय सूचना मिलने के बाद की गई. तीनों की पहचान पुलवामा के रहने वाले नावेद-उल-लतीफ पादरू व शकील अहमद बंध और शोपियां निवासी शमशाद मंजूर के रूप में हुई.

पुलिस ने कहा कि उन्होंने इंटरनेट और वीपीएन का उपयोग करके पाकिस्तान में सीमा पार आतंकवादियों के साथ संबंध स्थापित किए और पाकिस्तान स्थित आतंकवादी शाहीन के निर्देश पर वे घाटी में आतंकी नेटवर्क का विस्तार कर रहे थे.

जांच में यह भी पता चला कि शकील पाकिस्तानी आतंकवादी शाहीन के संपर्क में था और उसने श्रीनगर में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए नावेद और शमशाद की मदद मांगी थी.